S M L

जस्टिस सीकरी नहीं चाहते थे समिति में शामिल होना, PM मोदी और खड़गे को बताई थी अपनी इच्छा

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी, आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाने का फैसला करने वाली तीन सदस्यीय चयन समिति का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे

Updated On: Jan 14, 2019 09:20 PM IST

FP Staff

0
जस्टिस सीकरी नहीं चाहते थे समिति में शामिल होना, PM मोदी और खड़गे को बताई थी अपनी इच्छा

जस्टिस एके सीकरी के रिटायरमेंट के बाद केंद्र सरकार द्वारा दिए गए एक पद के प्रस्ताव को लेकर पैदा हुए, राजनीतिक विवाद के बीच एक नया खुलासा हुआ है. एनडीटीवी के सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी, आलोक वर्मा को सीबीआई प्रमुख के पद से हटाने का फैसला करने वाली तीन सदस्यीय चयन समिति का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे.

जस्टिस सीकरी का कहना है कि उन्होंने उच्च स्तरीय पैनल के दो अन्य सदस्यों, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विपक्ष के प्रतिनिधि, कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को पैनल में शामिल न होने की अपनी इच्छा के बारे में बताया था.

उन्होंने कथित तौर पर पैनल को बताया था कि यह एक 'कार्यकारी कार्य' था. हालांकि इसके बाद विपक्षी नेताओं ने सवाल किया है कि हितों के टकराव की संभावना के बावजूद वह पैनल में शामिल होने के लिए क्यों सहमत हुए. एनडीटीवी की मुताबिक जस्टिस सीकरी के करीबी सूत्रों ने बताया, 'भविष्य में, कोई भी जज नियुक्ति की इस प्रक्रिया का हिस्सा नहीं बनना चाहेगा. सभी जज इस प्रक्रिया से खुद को अलग कर लेंगे.'

65 वर्षीय जस्टिस सीकरी ने अब लंदन स्थित राष्ट्रमंडल सचिवालय के अध्यक्ष या सदस्य के पद का ऑफर ठुकरा दिया है. उन्हें 6 मार्च को रिटायर होने के बाद इस पद पर नियुक्त होना था. सरकार ने पिछले महीने ही उनसे इस पद के लिए संपर्क किया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi