S M L

हिप इंप्लान्ट से प्रभावित मरीजों को जॉनसन एंड जॉनसन को मुआवजा देना चाहिए: केंद्र

मशहूर फार्मा कंपनी को भेजे एक आदेश में मंत्रालय ने कहा कि मरीजों को उनकी परेशानी और पीड़ा के लिए मुआवजा देने की खातिर ‘उत्तरदायी’ बनाया जाए

Updated On: Sep 05, 2018 10:48 PM IST

Bhasha

0
हिप इंप्लान्ट से प्रभावित मरीजों को जॉनसन एंड जॉनसन को मुआवजा देना चाहिए: केंद्र
Loading...

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को फार्मा कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन को उस विशेषज्ञ पैनल की सभी सिफारिशों का पालन करने का निर्देश दिया जिसका गठन दोषपूर्ण ‘हिप इंप्लान्ट’ उपकरण के बारे में शिकायतों की जांच के लिए किया गया था. इसके साथ ही मंत्रालय ने कहा कि सभी मरीजों को मुआवजा देना कंपनी की जिम्मेदारी है.

मशहूर फार्मा कंपनी को भेजे एक आदेश में मंत्रालय ने कहा कि मरीजों को उनकी परेशानी और पीड़ा के लिए मुआवजा देने की खातिर ‘उत्तरदायी’ बनाया जाए. मंत्रालय ने जॉनसन एंड जॉनसन से ‘एएसआर’ इलाज कराने वाले उन मरीजों का पता लगाने के लिए भी कहा है जिन्होंने हेल्पलाइन के साथ पंजीयन नहीं कराया है.

पैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि भारत में मरीजों पर 'दोषपूर्ण' हिप इंप्लान्ट प्रणाली के उपयोग से हुए नुकसान पर कंपनी ने तथ्यों को 'दबा दिया.' पैनल ने यह भी सुझाव दिया था कि कंपनी प्रभावित रोगियों को करीब 20 लाख रुपए का मुआवजा दे. प्रभावित मरीजों ने कम राशि की पैनल की सिफारिश पर सवाल उठाए और कहा कि यह घावों पर नमक डालने जैसा है.

आदेश में कहा गया है, ‘आपको समिति की सभी सिफारिशों का पालन करने का निर्देश दिया जाता है, विशेष रूप से निम्नलिखित... रिपोर्ट में उल्लिखित एएसआर मुआवजा कार्यक्रम को वर्ष 2025 तक बढ़ाया जाए.’ इसमें यह भी कहा गया है कि कंपनी संबंधित सभी मरीजों तक पहुंचने के लिए समय-समय पर अग्रणी समाचार पत्रों में विज्ञापन के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाए.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi