S M L

3 साल की उम्र में तय शादी के वादे को निभाने के लिए किया मजबूर, तो CA महिला ने खा लिया जहर

दिव्या की ओर से पुलिस में दी गई शिकायत के अनुसार पिछले कुछ सालों से जीवराज का परिवार दिव्या पर उसके माता-पिता की तरफ से किए गए वादे को पूरा करने के लिए दबाव डाल रहा था

Updated On: Oct 30, 2018 09:52 AM IST

Bhasha

0
3 साल की उम्र में तय शादी के वादे को निभाने के लिए किया मजबूर, तो CA महिला ने खा लिया जहर
Loading...

राजस्थान के जोधपुर में एक चार्टर्ड एकाउन्टेंट महिला ने थाने में पुलिस के सामने जहर खाकर खुदकुशी करने की कोशिश की. बताया जा रहा है कि शादी का वादा पूरा नहीं कर पाने पर पड़ रहे दबावों से तंग आकर उसने ये कदम उठाया. दरअसल महिला के माता-पिता ने तीन साल की उम्र में ही एक व्यक्ति से उसकी शादी तय कर दी थी. अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि 22 वर्षीय दिव्या चौधरी की जीवराज से उस वक्त सगाई हुई थी जब वह तीन साल की थी.

दिव्या की ओर से पुलिस में दी गई शिकायत के अनुसार पिछले कुछ सालों से जीवराज का परिवार दिव्या पर उसके माता-पिता की तरफ से  किए गए वादे को पूरा करने के लिए दबाव डाल रहा था.

शादी से किया इनकार तो लगाया 16 लाख का जुर्माना

कुछ समय तक टाल-मटोल करने के बाद दिव्या ने जीवराज से शादी करने से साफ तौर पर इनकार कर दिया. इसके बाद स्थानीय पंचायत ने उसके परिवार पर 16 लाख रुपए का जुर्माना लगाया.

शिकायत के अनुसार पंचायत को रकम का भुगतान करने के बावजूद जीवराज का परिवार दिव्या पर दबाव डालता रहा.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि शिकायत से नाराज होकर पंचों ने 20 लाख रुपये की नई मांग रख दी. साथ ही पंचायत ने सामाजिक बहिष्कार से बचने के लिये उसके परिवार से सार्वजनिक रूप से माफी मांगने और शिकायत वापस लेने को कहा.

रविवार को पंचायत की बैठक से पहले दिव्या थाने पहुंची और पुलिस अधिकारियों और अपने परिवार के सदस्यों के सामने उसने जहर खा लिा.

दिव्या ने कहा, ‘मैं इतनी डर गई थी कि मैंने अपने घर से बाहर निकलना बंद कर दिया. अपना करियर बनाने की मेरे सपने धरे के धरे रह गए. पंचायत के हस्तक्षेप करने के बाद मुझे कोई उम्मीद नहीं दिखाई पड़ी और इसलिए मैंने जहर खाया.’

पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

डीसीपी (पूर्व) अमनदीप सिंह ने बताया कि मामले की जांच एससी-एसटी प्रकोष्ठ के डीएसपी रैंक के एक अधिकारी नारायण सिंह को सौंप दी गई है.  अधिकारियों ने बताया कि सरपंच, जोधपुर के मौजूदा जिला प्रमुख के पिता समेत पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. अधिकारियों ने कहा कि मामले में पुलिस की कथित लापरवाही का भी संज्ञान लिया गया है.

इस बीच, पुलिस ने कहा कि एफआईआर दर्ज किए जाने के बाद दिव्या अपना बयान दर्ज कराने के लिए उनक सामने पेश नहीं हुई. सामाजिक दबावों के बावजूद दिव्या हाल में सर्टिफाइड चार्टर्ड एकाउन्टेंट बनी थी.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi