S M L

छात्रों में देशभक्ति जगाने को जेएनयू कैंपस में रखे जाएं टैंक: वीसी

जेएनयू कैंपस में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वीके सिंह की मौजूदगी में करगिल विजय दिवस मनाया गया

Updated On: Jul 24, 2017 11:44 AM IST

Bhasha

0
छात्रों में देशभक्ति जगाने को जेएनयू कैंपस में रखे जाएं टैंक: वीसी

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में रविवार को ‘करगिल विजय दिवस’ मनाया गया. साल 1999 में हुए करगिल युद्ध में भारतीय सैनिकों की शहादत की याद में ‘कारगिल विजय दिवस’ मनाया जाता है.

इस मौके पर यूनिवर्सिटी के वीसी एम जगदीश कुमार ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय मंत्रियों से कैंपस में आर्मी टैंक रखे जाने की मांग की है. उनके मुताबिक इसके जरिए छात्रों को वीर सैनिकों के बलिदानों की याद कराई जा सकेगी.

गौरतलब है कि पिछले साल कथित 'भारत-विरोधी' नारेबाजी के कारण जेएनयू विवादों में घिरा रहा था.

2200 फीट लंबे तिरंगे के साथ किया मार्च

जेएनयू के शिक्षकों और छात्रों ने करगिल के शहीदों के परिजन और पूर्व सैनिकों के संगठन ‘वेटरंस इंडिया’ के सदस्यों के साथ 2,200 फुट लंबा तिरंगा लेकर मार्च निकाला. इसके बाद उन्होंने जेएनयू के कन्वेंशन सेंटर में स्थित 'वॉल ऑफ हीरोज', जहां परमवीर चक्र से सम्मानित जवानों की तस्वीरें लगाई गई थीं,' पर श्रद्धांजलि अर्पित की. कार्यक्रम में थलसेना बैंड का भी एक कार्यक्रम हुआ. इस मौके पर करगिल में शहीद हुए सैनिकों के परिवार की महिला सदस्यों को सम्मानित किया गया.

जेएनयू के कुलपति एम जगदीश कुमार ने कार्यक्रम को 'ऐतिहासिक' करार दिया और कहा कि यह थलसेना और देश के अन्य सुरक्षा बलों के बलिदान को याद करने के लिए एक अहम दिन था.

इस मौके पर मौजूद पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने यूनिवर्सिटी के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि तिरंगा मार्च, 'वाल ऑफ हीरोज' की स्थापना और 'भारत माता की जय' और 'वंदे मातरम' के नारे लगाना ऐतिहासिक कदम है. उन्होंने कहा कि दुनिया के किसी अन्य देश में सेना पर सवाल नहीं उठाया जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi