S M L

JNU महत्वपूर्ण सोच-विचारों की आजादी के लिए प्रतिबद्ध: जगदीश कुमार

जगदीश कुमार विश्वविद्यालय के दूसरे दीक्षांत समारोह में बोल रहे थे जो पहले दीक्षांत समारोह के करीब 46 साल बाद आयोजित किया गया था.

FP Staff Updated On: Aug 08, 2018 09:39 PM IST

0
JNU महत्वपूर्ण सोच-विचारों की आजादी के लिए प्रतिबद्ध: जगदीश कुमार

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने बुधवार को जोर दिया कि यह संस्थान अपने छात्रों और शिक्षकों के बीच महत्वपूर्ण सोच और विचारों की आजादी को प्रोत्साहित करने के लिए प्रतिबद्ध है.

वह विश्वविद्यालय के दूसरे दीक्षांत समारोह में बोल रहे थे जो पहले दीक्षांत समारोह के करीब 46 साल बाद आयोजित किया गया था. JNU के कुलाधिपति और नीति आयोग के सदस्य वी.के सारस्वत कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे.

सारस्वत ने कहा कि JNU को बौद्धिक राजनेताओं और भारतीय नौकरशाही में सार्थक जीवन के लिए प्रशिक्षण स्थान माना जाता है. यहां से मुजफ्फर आलम, आलोक भट्टाचार्य, एस जयशंकर, निर्मला सीतारमण, सीताराम येचुरी आदि जैसी कुछ बेहतरीन प्रतिभाएं, राजनेता और नौकरशाह और शोधकर्ता निकले हैं.

कुलपति की यह टिप्पणी JNU छात्र संघ की उस अपील की पृष्ठभूमि में आई है जिसमें JNU छात्रों से दीक्षांत समारोह के बहिष्कार का आह्वान किया गया था.

कुमार ने कहा कि जब दिमाग को मुक्त रूप से काम करने और आलोचनात्मक रूप से सोचने की अनुमति दी जाती है तो सबसे अच्छे विचार पैदा होते हैं. JNU अपनी मौलिक जिम्मेदारियों पर जोर देने के साथ ही विचार और आलोचनात्मक सोच की स्वतंत्रता के प्रति प्रतिबद्ध है.

इस पर JNU छात्रसंघ की भी प्रतिक्रिया आई है. छात्रसंघ के मुताबिक, JNU VC जगदीश कुमार ने 1 जनवरी 2017 से 30 जून तक PhD पूरा करने वाले छात्रों को डिग्री देने के लिए दीक्षांत समारोह का आयोजन किया है. हम JNU की डिग्री इस VC के हाथ से लेने से इनकार करते हैं.

हमने अपनी मेहनत और शिक्षकों के योगदान से यह डिग्री हासिल की. इसमें JNU के जिन मूल्यों का योगदान रहा, JNU VC, उसे ही नष्ट कर रहे हैं. 83% सीट काटने और आरक्षित सीटों को JNU VC ने एक झटके में खत्म कर दिया.

हमें नाज़ है JNU कि हमारी डिग्रीयों पर, बाद में देखा जाएगा, लेकिन इस वीसी के हाथ से अपनी डिग्री लेकर हम अपने, JNU और अपनी डिग्रीयों का अपमान नहीं करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi