S M L

12 साल की बच्ची का कौन सा पत्र पढ़ना चाहती हैं जे.के रोलिंग?

Updated On: Apr 29, 2018 08:50 PM IST

FP Staff

0
12 साल की बच्ची का कौन सा पत्र पढ़ना चाहती हैं जे.के रोलिंग?

जम्मू-कश्मीर में रहने वाली 12 साल की कुलसुम ने जब जेके रोलिंग पर एक निबंध लिखा था, तब उसने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि उसे रोलिंग खुद पढ़ेंगी. कुलसुम अपनी उम्र के ज्यादातर बच्चों की तरह ही 'हैरी पॉटर' सीरीज की किताबों और फिल्मों की बहुत बड़ी फैन हैं. हालांकि उसकी कहानी उसके साथियों से थोड़ी अलग है.

वह जम्मू-कश्मीर के डोडा गांव के अंग्रेजी पढ़ने वाली पहली पीढ़ी से आती है. वह डोडा के हाजी पब्लिक स्कूल में पढ़ाई करती हैं. रोलिंग ने न सिर्फ कुलसुम का निबंध पढ़ा बल्कि उसकी स्कूल टीचर को ट्वीट किया कि वह कुलसुम के लिए कुछ भेजना चाहती हैं.

रोलिंग ने ट्वीट किया, 'क्या आप मुझे पर्सनल मैसेज में कुलसुम का पूरा नाम भेज सकती हैं? मैं उसके लिए कुछ भेजना चाहती हूं.'

'हैरी पॉटर' में हरमाइनी कुलसुम की पसंदीदा किरदार है. जब उसे पता चला कि रोलिंग ने उसके लिए ट्वीट किया तो यह उसके लिए एक जादूई अनुभव था. कुलसुम ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, 'सबाह मैम ने मुझे बताया कि जेके रोलिंग ने मेरा निबंध देखा और उस पर रिप्लाई किया है. मैं बहुत खुश हूं. जब मैं उनसे मिलुंगी तो उन्हें बताउंगी कि वह बहुत अच्छी हैं.'

कुलसुम की टीचर सबाह हाजी ने उसके निबंध की फोटो ट्वीट की थी. इस ट्वीट में उन्होंने जेके रोलिंग को टैग करते हुए लिखा था कि कुलसुम हिमालय में इंग्लिश पढ़ने वालों की फर्स्ट जनरेशन से आती है और एक दिन वह उनसे मिलना चाहती है. इस निबंध में कुलसुम ने लिखा था, “मैं जेके रोलिंग से सिर्फ इसलिए प्रेरित नहीं हूं क्योंकि वह अच्छा लिखती हैं. मैं उनसे प्रेरित हूं क्योंकि उनके सामने कई समस्याएं आई लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी.”

इस निबंध में कुलसुम की टीचर ने कई जगह पर लाल स्याही से सुधार किया था. इस निबंध में यह भी लिखा था कि कुलसुम दूसरी कक्षा से ही इंग्लिश सीख रही हैं.

रोलिंग के ट्वीट से न सिर्फ कुलसुम बल्कि उसका पूरा स्कूल खुश है. स्कूल टीचर सबाह हाजी ने कहा कि रोलिंग के ट्वीट को फ्रेम कराकर स्कूल में रखा जाएगा.

(साभार: न्यूज़18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi