S M L

भूख से मौत का मामला: बच्ची की मां को गांववालों ने कहा बाहर जाओ, सुरक्षाकर्मी तैनात

राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा है कि कोयली देवी को धमकी देनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी

FP Staff Updated On: Oct 22, 2017 06:37 PM IST

0
भूख से मौत का मामला: बच्ची की मां को गांववालों ने कहा बाहर जाओ, सुरक्षाकर्मी तैनात

झारखंड के सिमडेगा जिले में भूख से तड़पकर 11 साल की बच्ची की मौत ने देश को हिला कर रख दिया था. अब बच्ची की मां और भाई-बहनों को गांव से निकालने की खबर आई है. मामला सामने आने के बाद प्रशासन ने बच्ची की मां को सुरक्षा मुहैया कराई है. गांव में उसकी सुरक्षा के लिए दो पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा है कि कोयली देवी को धमकी देनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. सरकार यह सुनिश्चित करेगी की आगे भी कोयली देवी को किसी तरह की परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े.

वहीं खबर सामने आने के बाद जिलाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री ने पूरे मामले की जानकारी ली है. मृतक संतोषी नायक की मां कोयली नायक को उसके गांव कारीमाटी पहुंचाया. पुलिस तैनात किया. कहा कोयली को धमकाने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी.

सिमडेगा में 28 सितंबर को भूख के कारण 11 साल की बच्ची संतोषी कुमारी की मौत हो गई थी. शनिवार को बच्ची की मां को उसके गांव से बाहर निकाल दिया गया.

खबरों के मुताबिक, स्थानीय लोगों ने महिला पर गांव की बदनामी करने का आरोप लगाया है. डरी-सहमी महिला ने बाद में पंचायत घर में आश्रय लिया है.

बच्ची की मां कोयली देवी का कहना है, 'मैं डरी हुई हूं. गांववालों ने मुझे अपशब्द कहे. मुझे गांव छोड़ देने को कहा.' सिमडेगा जिला प्रशासन ने स्थानीय अधिकारियों से मामले की जांच करने को कहा है.

खाद्य सुरक्षा संबंधी मुद्दों पर काम कर रहे एक संगठन की ओर से 15 अक्टूबर को खबर दिखाने के बाद मामला सामने आया था.

राशन दुकान पर पहचान पत्र दिखाने के मिल जाएगा राशन 

बताया जा रहा है कि कोयली देवी के परिवार को फरवरी से राशन नहीं मिल रहा था. क्योंकि, उसके पास आधार कार्ड नहीं था. और प्रशासन ने राशन कार्ड को आधार से लिंक करना जरूरी कर दिया था.

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को सिमडेगा जिले का दौरा किया था और उपायुक्त मंजुनाथ भजंत्री से कथित तौर पर भूख से हुई मौत के मामले में विस्तृत जांच रिपोर्ट की मांग की थी.

बच्ची की मौत के बाद राज्य सरकार ने घोषणा की थी कि पीडीएस दुकानों पर खाद्य अनाज पहचान पत्र दिखाकर वितरित किया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi