S M L

झारखंड: शादी में प्रतिबंधित मांस परोसने के शक में शख्स को बुरी तरह पीटा, धारा 144 लागू

अपने बेटे की शादी के प्रीतिभोज में मेहमानों को प्रतिबंधित मांस परोसने के संदेह में अल्पसंख्यक समुदाय के एक व्यक्ति पर झारखंड के कोडरमा जिले में हमला किया गया

Bhasha Updated On: Apr 19, 2018 09:56 AM IST

0
झारखंड: शादी में प्रतिबंधित मांस परोसने के शक में शख्स को बुरी तरह पीटा, धारा 144 लागू

अपने बेटे की शादी के प्रीतिभोज में मेहमानों को प्रतिबंधित मांस परोसने के संदेह में अल्पसंख्यक समुदाय के एक व्यक्ति पर झारखंड के कोडरमा जिले में हमला किया गया. इस घटना के बाद इलाके में निषेधाज्ञा लगा दी गई है. पुलिस ने बताया कि डोमचांच प्रखंड के तहत नवाडीह गांव में और उसके आसपास सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई गई है. एक व्यक्ति पर हमला किए जाने और गांव में कई घरों में तोड़फोड़ किए जाने के बाद यह कदम उठाया गया है.

कोडरमा पुलिस अधीक्षक शिवानी तिवारी ने बताया, हमने इस सिलसिले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है. स्थिति अब नियंत्रण में है. उन्होंने बताया कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए गांव के अंदर और चारों ओर पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं. पुलिस स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए है. यह पूछे जाने पर कि क्या प्रतिबंधित मांस परोसा गया था, तिवारी ने बताया, हमने खुरों को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा है और रिपोर्ट मिलने पर इसकी पुष्टि कर सकते हैं.

पुलिस ने बताया कि कुछ ग्रामीणों ने इस व्यक्ति के घर के पीछे स्थित मैदान से कुछ खुर और हड्डियां पाई थी. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि उसने सोमवार रात अपने बेटे की शादी के प्रीतिभोज में प्रतिबंधित मांस परोसा था. इसके बाद ग्रामीणों ने उसकी पिटाई की और उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया. उसके घर के आसपास के मकानों में तोड़फोड़ की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया.

पुलिस ने व्यक्ति को रांची स्थित राजेन्द्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) भेज दिया. गौरतलब है कि पिछले साल भी झारखंड में इसी तरह की एक घटना दर्ज की गई थी, जब लोगों के एक समूह ने रामगढ़ शहर में मांस कारोबारी अलीमुद्दीन अंसारी की पिटाई की थी. इन लोगों को संदेह था कि वह अपनी कार में गोमांस ले जा रहे थे. फारेंसिक परीक्षण में यह बात साबित हो गई कि वह जिस मांग को ले जा रहा था वह गोमांस था जिसकी बिक्री राज्य में प्रतिबंधित है. रामगढ़ की एक अदालत ने इस मामले में पिछले महीने 11 गौरक्षकों को उम्र कैद की सजा सुनाई थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi