S M L

झारखंड के गुमला में तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो को मारी टक्कर, 12 की मौत

ऑटो में सवार लोग बेड़ो प्रखंड के गड़गांव में छठी समारोह में हिस्सा लेकर घर लौट रहे थे. मौके पर 11 की मौत जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ा

Updated On: Jan 15, 2018 11:24 AM IST

FP Staff

0
झारखंड के गुमला में तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो को मारी टक्कर, 12 की मौत

गुमला के भरनो में तेज रफ्तार ट्रक और एक ऑटो में टक्कर हो गई.  इस हादसे में ऑटो सवार 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक महिला ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. हादसे में 4 लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं. घायलों को रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया है.

न्यूज 18 के मुताबिक, यह हादसा नेशनल हाईवे-43 पर पलमाडीपा के पास हुआ. मरने वाले सभी भरनो प्रखंड के जतरगड़ी गांव के थे. ऑटो में सवार लोग बेड़ो प्रखंड के गड़गांव में छठी समारोह में हिस्सा लेकर घर लौट रहे थे. इसी दौरान पलमाडीपा के पास ट्रक ने सामने से आ रहे टेंपो को टक्कर मार दिया. टक्कर इतनी जोरदार थी कि काफी दूर तक टेंपो घिसटता चला गया. घटना में 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई.  मरने वालों में छह महिला, चार बच्चे और दो पुरुष शामिल हैं.

नहीं रुका केंद्रीय मंत्री का काफिला

जब यह हादसा हुआ, उस वक्त पुलिस व मीडियाकर्मी घायलों को अस्पताल पहुंचाने में जुटे थे. उसी दौरान केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत का काफिला घटनास्थल से होकर गुजर रहा था. लोकल लोग और पुलिस ने काफिला रोकने की कोशिश की, ताकि उनकी गाड़ी से घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा सके. मगर केंद्रीय मंत्री का काफिला नहीं रुका. इससे लोगों में काफी आक्रोश है.

सिग्नल न होना हादसे का कारण घटना के बाद मौके पर पहुंचे लोगों ने बताया कि सड़क हादसे के पीछे का सबसे बड़ा कारण सड़क के बीच मेरेडियम सिग्नल का नहीं होना है. लोगों का कहना है कि रांची-गुमला रूट पर हर दिन नागफनी नदी से सैकड़ों ट्रक बालू की अवैध ढुलाई होती है. सभी ट्रक ओवरलोड होते हैं. अवैध बालू होने के कारण ट्रक ड्राइवर हमेशा ट्रकों को तेजी में भगाने में जुटे रहते हैं. इससे इस रूट पर अक्सर हादसे होते रहते हैं.

(फोटोःन्यूज18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi