S M L

JET Airways की बिगड़ी हालत, बचे हैं केवल 2 महीने तक खर्च चलाने के पैसे

इससे एंप्लॉयीज की घबराहट बढ़ गई है. जेट के दो अधिकारियों ने भी इस खबर की पुष्टि है

FP Staff Updated On: Aug 03, 2018 11:56 AM IST

0
JET Airways की बिगड़ी हालत, बचे हैं केवल 2 महीने तक खर्च चलाने के पैसे

प्राइवेट सेक्टर की बड़ी कंपनी जेट एयरवेज ने कर्मचारियों की सैलरी में 25 फीसदी तक की कटौती के बाद अब खर्चे कम करने की सलाह दी है. कंपनी ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि खर्चे कम करने के उपाय नहीं किए गए तो कंपनी के लिए 60 दिन के बाद ऑपरेट करना नामुमिकन होगा.

केवल 2 महीने खर्चा चलाने लायक बचे पैसे

'इकोनॉमिक टाइम्स' में छपी खबर के मुताबिक, कंपनी को दो महीने के बाद चलाना असंभव है और मैनेजमेंट को सैलरी कट और दूसरे उपायों से खर्चे घटाने की जरूरत है. अगर ऐसा किया गया तभी 60 दिनों के बाद इसका कामकाज जारी रखा जा सकेगा.

इससे एंप्लॉयीज की घबराहट बढ़ गई है. जेट के दो अधिकारियों ने भी इस खबर की पुष्टि है. उन्होंने बताया कि चेयरमैन नरेश गोयल सहित कंपनी की मैनेजमेंट टीम ने कर्मचारियों को सूचना दी है कि एयरलाइन की वित्तीय हालत ठीक नहीं है और लागत कम करने के उपाय तुरंत करने होंगे.

कर्मचारियों की जा रही है नौकरी

एयरलाइन एग्जिक्यूटिव्स ने कहा कि कंपनी ने एंप्लॉयीज को निकालना शुरू कर दिया है. एक कर्मचारी ने कहा, ‘इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट में दिल्ली के लिए हेड ऑफ लाइन से छुट्टी पर जाने को कहा गया है. केबिन क्रू और ग्राउंड हैंडलिंग डिपार्टमेंट से छंटनी शुरू होगी.’ एयरलाइन ने एंप्लॉयीज से कहा था कि उन्हें 25 पर्सेंट तक सैलरी कट बर्दाश्त करना होगा. इससे कंपनी को सालाना 500 करोड़ रुपए की बचत हो सकती है.

दो साल के लिए होगी सैलरी में कटौती

गोयल की अगुवाई में एयरलाइन की मैनेजमेंट टीम ने मुंबई में एंप्लॉयीज से मुलाकात कर उन्हें बताया कि सैलरी में कटौती दो साल के लिए होगी और इसे रिफंड नहीं किया जाएगा. मैनेजमेंट टीम ने दिल्ली में गुरुवार को एंप्लॉयीज से मुलाकात की. मैनेजमेंट ने ‌अपनी मुश्किलों के लिए कच्चे तेल के दाम में तेजी और बाजार के बड़े हिस्से पर इंडिगो का कंट्रोल बताया है. उसने कहा है कि पिछले 6 साल से कंपनी कोई विस्तार नहीं कर पाई और इससे उसकी वित्तीय स्थिति कमजोर हुई है. 2016 और 2017 तक लगातार दो साल के मुनाफे के बाद वित्त वर्ष 2018 में जेट को 767 करोड़ का घाटा हुआ था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi