S M L

पैसों की कमी से जूझ रही जेट एयरवेज ने कर्मचारियों की सैलरी में की देरी

कंपनी फिलहाल वित्तीय देनदारियों का भुगतान करने के लिए पैसे जुटाने में संघर्ष कर रही है. उसके सामने 16 हजार से ज्यादा कर्मचारियों की सैलरी देने का भी दबाव है

Updated On: Oct 03, 2018 02:50 PM IST

PTI

0
पैसों की कमी से जूझ रही जेट एयरवेज ने कर्मचारियों की सैलरी में की देरी

पैसों के संकट से जूझ रही कंपनी जेट एयरवेज के सीनियर मैनेजमेंट समेत पायलटों और इंजीनियर्स की सैलरी में देरी के बाद सितंबर में अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों को भी वेतन देने में असफल रही है. कंपनी से जुड़े एक सूत्र ने बुधवार को इसकी जानकारी दी.

कंपनी फिलहाल वित्तीय देनदारियों का भुगतान करने के लिए पैसे जुटाने में संघर्ष कर रही है. उसके सामने 16 हजार से ज्यादा कर्मचारियों की सैलरी देने का भी दबाव है.

सूत्र ने कहा, ‘सामान्यत: हमें महीने की पहली तारीख को वेतन मिल जाता है. पिछले महीने कंपनी ने सीनियर मैनेजमेंट, पायलटों और इंजीनियर्स को छोड़ बाकि बचे सभी कर्मचारियों को समय पर वेतन दे दिया था. लेकिन इस महीने (सितंबर) कंपनी, मैनेजर्स और कुछ सीनियर पदों पर काम कर रहे कर्मचारियों समेत अन्य श्रेणियों में भी वेतन दे पाने में असफल रही है.’

उसने बताया कि 75 हजार रुपए प्रति माह के वेतन वाले यानी ए1-ए5, ओ1 और ओ2 श्रेणी के कर्मचारियों का वेतन एक अक्टूबर को आ गया. एम1, एम2, ई1 और अन्य ऊपर की श्रेणियों के कर्मचारियों को अभी तक वेतन नहीं मिला है.

कंपनी को इस बाबत भेजे गए सवाल का लिखित जवाब नहीं मिला है.

कंपनी ने छह सितंबर को वरिष्ठ कर्मचारियों से कहा था कि उन्हें नवंबर तक हर महीने वेतन दो खेप में मिलेगा. अगस्त महीने के वेतन की पहली खेप लोगों को 11 सितंबर तक मिलने वाला था और बाकि बचे 50 प्रतिशत वेतन 26 सितंबर तक मिलना था. कंपनी आधे वेतन का भुगतान तय समय तक करने में सफल रही थी लेकिन बाकि बचे आधे वेतन का भुगतान करने की समयसीमा 26 सितंबर से बढ़ाकर नौ अक्टूबर कर दी गई.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi