S M L

2जी मामला बेहद संवेदनशील, कोई भी जांच अधिकारी संदेह के घेरे में नहीं होना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट

केंद्र की ओर से अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल विक्रमजीत बनर्जी ने कोर्ट से कहा कि सरकार इन आरोपों की जांच के लिए तैयार है

Updated On: Jun 27, 2018 02:08 PM IST

Bhasha

0
2जी मामला बेहद संवेदनशील, कोई भी जांच अधिकारी संदेह के घेरे में नहीं होना चाहिए: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को कहा कि 2 जी स्पेक्ट्रम घोटाला मामले से संबंधित मुद्दे बेहद संवेदनशील हैं और इसकी जांच कर रहा कोई भी जांच अधिकारी किसी भी तरह के संदेह के घेरे में नहीं रहना चाहिए. कोर्ट ने एयरसेल - मैक्सिस सौदे की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय के ज्वाइंट डायरेक्टर राजेश्वर सिंह की याचिका पर सुनवाई के दौरान यह टिप्पणी की.
जस्टिस अरूण कुमार मिश्रा और जस्टिस संजय किशन कौल की अवकाशकालीन पीठ ने कहा कि एयरसेल - मैक्सिस सौदे की जांच कर रहे निदेशालय के अधिकारी राजेश्वर सिंह के खिलाफ लगाए गए आरोप गंभीर हैं और इन पर गौर करने की आवश्यकता है.

केंद्र की ओर से अतिरिक्त सॉलिसीटर जनरल विक्रमजीत बनर्जी ने कोर्ट से कहा कि सरकार इन आरोपों की जांच के लिए तैयार है कि सिंह ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है. उन्होंने इसके साथ ही एक पत्र भी पीठ को सौंपा.

पीठ ने सौंपे गए दस्तावेज का अवलोकन करने के बाद कहा कि इस मामले में संवदेनशील मुद्दे शामिल हैं.

पीठ ने कहा , ‘वास्तविकता के अनुसार , यदि आपके (सिंह) खिलाफ आरोप लगाए गए हैं , चाहे सही हों या गलत, तो इन पर गौर करना ही होगा. हमारे सामने जो बातें आई हैं, वे चौंकाने वाली हैं.’

पीठ ने राजेश्वर सिंह से कहा , ‘आप सिर्फ एक अधिकारी हैं. आपको सीधे ही क्लीन चिट नहीं दी जा सकती. हर व्यक्ति जवाबदेह है. आपको भी किसी कार्रवाई के लिए जवाबदेह होना चाहिए. आपके खिलाफ गंभीर आरोप हैं.’

रजनीश कपूर ने दायर की थी याचिका

सुप्रीम इस मामले में दोपहर दो बजे फैसला सुनाएगी. खुद को खोजी पत्रकार होने का दावा करने वाले रजनीश कपूर ने शीर्ष अदालत में यह याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि राजेश्वर सिंह ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की है और इसकी जांच की जानी चाहिए.

राजेश्वर सिंह ने कपूर के खिलाफ अलग से अवमानना याचिका भी दायर की है और इसमें दावा किया है कि एयरसेल - मैक्सिस सौदा मामले की जांच को पटरी से उतारने और इसमें देर करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

सुब्रमण्यन स्वामी ने भी दायर की  हस्तक्षेप करने की याचिका

बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने भी कपूर की यचिका में हस्तक्षेप की अनुमति के लिए आवेदन दायर की है.

शीर्ष अदालत ने 12 मार्च को सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय को एयरसेल - मैक्सिस सौदे को विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड द्वारा दी गई मंजूरी में कथित अनियमित्ताओं की जांच का काम छह महीने के भीतर पूरा करने का आदेश दिया था.

इस मामले में तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम और उनके पुत्र कार्ति चिदंबरम से जांच एजेन्सियों ने पूछताछ की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi