Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

गरबा देखने वाले दलित के सिर को दीवार पर मार कर की गई थी हत्या

जिस जगह जयेश सोलंकी की हत्या हुई वहां से कुछ किलोमीटर दूर ही अमित शाह की गौरव यात्रा भी थी

FP Staff Updated On: Oct 03, 2017 12:28 PM IST

0
गरबा देखने वाले दलित के सिर को दीवार पर मार कर की गई थी हत्या

रविवार को गुजरात के आनंद जिले के बोरसाद ताल्लुके में 20 साल के जयेश सोलंकी की हत्या कर दी गई थी. जयेश दलित समुदाय से था और गांव के सोमेश्वर मंदिर में गरबा देख रहा था. गांव के ही पटेल समुदाय के युवको ने उसे गरबा देखने के लिए पीटा. जिसके चलते जयेश की मौत हो गई.

इंडियन एक्सप्रेस को दिए गए इंटरव्यू में जयेश की मां मधुबेन बताती हैं कि जयेश ने दसवीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी और सिक्योरिटी गार्ड का काम करता था. जयेश छुट्टी में घर आया था. दोपहर को चार बजे उसने अपनी मां से कहा कि वो एक घंटे में गरबा देखकर वापस आएगा और वडोदरा नौकरी के लिए वापस निकल जाएगा. मगर इसके कुछ ही देर बाद जयेश की हत्या हो गई.

जिस समय जयेश की हत्या हुई, उसके चचेरे भाई प्रकाश भाई सोलंकी भी उसके साथ थे. प्रकाश बताते हैं कि वो जयेश और एक दूसरा दोस्त मंदिर की दीवार पर बैठकर गरबा देख रहे थे. संजयभाई पटेल नाम के युवक ने आकर उनको वहां होने के लिए धमकाया. इसी में जयेश ने कहा, 'हम भी वही देख रहे हैं जो तुम लोग देख रहे हो.'

संजय कुछ ही देर में वापस 7 और लड़कों के साथ आया और जयेश को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया. उन लोगों ने उसका सिर दीवार में मारा जिससे जयेश बेहोश हो गया. इसके बाद वो उस पर लात घूंसे बरसाते रहे. थोड़ी देर में जब दूसरे गांववाले वहां पहुंचे तो आरोपी भाग गए.

जयेश की मौत हॉस्पिटल ले जाने के रास्ते में ही हो गई. आनंद जिले के डीएम के मुताबिक सात आरोपियों को न्यायिक हिरासत में बोरसाद जेल में भेज दिया गया है. आठवां आरोपी जुवेनाइल है. जयेश के परिवार वालों को जिला प्रशासन की तरफ से 8.25 लाख की मदद दी जाएगी. पुलिस के मुताबिक आरोपियों का कहना था कि दलितों को गरबा देखने का हक नहीं है.

गुजरात में दलितों के साथ हिंसा का ये पहला मामला नहीं है. ऊना में दलितों के साथ हिंसा और उसके बाद दलितों का आंदोलन काफी चर्चा में रहा था.  इसी शुक्रवार को दलित युवक को खास तरह की मूंछ रखने के चलते पीटा गया था. इसी तरह से पाटीदार पटेलों के आंदोलन का पूरा आधार जातीय आरक्षण था. गुजरात में इसी साल चुनाव होने को हैं तो सभी पार्टियां इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रही हैं. जिस जगह जयेश की हत्या हुई उसी से दस किलोमीटर दूर कुछ घंटे बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की गौरव यात्रा थी. राहुल गांधी भी गुजरात में यात्रा कर रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi