S M L

जयललिता की मौत के बारे में हुआ ये नया खुलासा

जयललिता की मौत के बाद कई नेताओं ने शंका जाहिर की थी कि उनकी मौत षड्यंत्र के तहत हुई है, इसलिए 2017 में उनकी मौत के बाद जांच के आदेश दिए गए थे

Updated On: May 27, 2018 04:33 PM IST

FP Staff

0
जयललिता की मौत के बारे में हुआ ये नया खुलासा

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता की मौत की जांच कर रहे आयोग ने एक नोट रिलीज किया है, जिसे पूर्व मुख्यमंत्री के फिजिशियन ने दिया है. यह नोट 2 अगस्त 2016 को लिखा गया था. इसमें खान-पान के साथ जयललिता के मेडिकल चेकअप्स का जिक्र किया गया है. उन्होंने लिखा है कि ब्लड शुगर मापा जाता था और उन्हें डायबिटीज के लिए Januvia-50 mg नाम की टैबलेट दी जाती थी.

इस नोट को जयललिता ने हरे पेन से अपने हाथ से लिखा है. चार्ट में लिखी बातों से पता चलता है कि वह अपने स्वास्थ्य और खान-पान को लेकर खासी जागरूक थीं, चार्ट में उनके वजन का भी जिक्र किया गया है जो 106.9 किलोग्राम था. साथ ही बात करें उनके खान-पान की तो उनकी शुरुआत सुबह 4.55 बजे से होती थी. इस दौरान उन्हें कमल के पानी (लोटस वॉटर) के साथ एक इडली, चार ब्रेड, 230 मिली लीटर नारियल का पानी और सुबह 5.05 से 5.35 के बीच 400 मिली लीटर कॉफी दी जाती थी.

उनका लंच 2 बजे से 2.35 के बीच होता था. उन्होंने लिखा है कि उन्हें करीब डेढ़ कप बासमती चावल दिए जाते थे, साथ ही एक कप दही और आधा कटोरी खरबूजा रहता था. उनका शाम का नाश्ता 6.30 से 7.15 के बीच होता था. इसमें आधा कप अखरोट और ड्राई फ्रूट्स रहते थे, एक कप इडली और उपमा रहते थे, एक डोसा, दो ब्रेड, 200 मिली लीटर दूध के साथ एंटी-डायबिटिक टैबलेट दी जाती थीं.

इसके अलावा शाम को 5.45 बजे 200 मिली लीटर कॉफी और सुबह 5.45 बजे 200 मिली लीटर ग्रीन टी दी जाती थी. मामले की जांच कर रही जस्टिस ए अरुमुगस्वामी कमीशन ने भी जयललिता की आवाज की रिकॉर्डिंग रिलीज की है. इस रिकॉर्डिंग में जयललिता डॉक्टर को बता रही हैं कि उनका 140/80 तक ब्लड प्रेशर उनके लिए नॉर्मल है. जब डॉक्टर ने कहा कि उनका ब्लड प्रेश हाई है तो इसमें वह 140/80 ब्लड प्रेशर होने का जिक्र करते हैं. इसपर जयललिता कहती हैं, यह मेरे लिए ठीक है.

ऑडियो क्लिप से हुआ ये खुलासा

1.07 मिनट की क्लिप की शुरुआत में, जिसमें मॉनिटर के बीप की आवाज भी सुनाई देती है, वह खांसती हैं और अपनी सांस की तकलीफ को बताते हुए कहती हैं उन्हें सांसों की घर्र-घर्र आवाज सुनाई दे रही है और उनकी सांसों की सीटी उसी तरह से सुनाई दे रही है जैसी फैंस सिनेमा हॉल में बजाते हैं. इस दौरान वह एक व्यक्ति जिसका नाम डॉक्टर शिवकुमार है, उनसे कहती हैं कि उनकी सांसों को रिकॉर्ड करने के लिए वह एक ऐप्लिकेशन डाउनलोड करें, लेकिन जब ऐप्लिकेशन डाउनलोड नहीं होता तो वह कहती हैं, रहने दो अगर नहीं हो रहा.

33 सेकंड की एक और रिकॉर्डिंग में जयललिता तेजी से सांस ले रही हैं और इसी बीच डॉक्टर शिवकुमार कहते हैं, वह उनकी सांसों की रिकॉर्डिंग कर रहे हैं, लेकिन अब यह उतनी खतरनाक मालूम नहीं होती. खांसते हुए वह कहती हैं कि जब घरघराहट हो रही थी तब मैंने तुम्हें रिकॉर्ड करने के लिए कहा था, लेकिन तुमने कहा कि ऐप्लिकेशन डाउनलोड नहीं हो रहा है. इसी बीच डॉक्टर कहते हैं कि उन्होंने उनकी घरघराहट रिकॉर्ड करने के लिए ऐप्लिकेशन डाउनलोड कर लिया है. डॉक्टर ने इस वीडियो को जांच के लिए अपोलो अस्पताल भेज दिया था.

गौरतलब है कि जयललिता की मौत के बाद कई नेताओं ने शंका जाहिर की थी कि उनकी मौत षड्यंत्र के तहत हुई है, इसलिए 2017 में उनकी मौत के बाद जांच के आदेश दिए गए थे.

(साभार: न्यूज18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi