S M L

नहीं है जयललिता की रिकॉर्डिंग, एक महीने के अंदर हो जाती है डिलीट: अपोलो हॉस्पिटल

अस्पताल ने कहा कि कमीशन की तरफ से मांगी गई फुटेज बहुत पुरानी है और अस्पताल में केवल एक महीने पुरानी फुटेज ही रहती है

Updated On: Sep 20, 2018 01:03 PM IST

FP Staff

0
नहीं है जयललिता की रिकॉर्डिंग, एक महीने के अंदर हो जाती है डिलीट: अपोलो हॉस्पिटल

तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता की मौत की जांच के लिए मांगी गई सीसीटीवी फुटेज देने में अस्पताल ने असमर्थता जताई है. दरअसल जयललिता की मौत की जांच के लिए जस्टिस अरुमुगस्वामी कमीशन का गठन किया गया था.

इसके बाद कमीशन ने अपोलो अस्पताल से जयललिता के अस्पताल में भर्ती होने की सीसीटीवी फुटेज मांगी थी. लेकिन अस्पताल ने बताया कि वो सीसीटीवी फुटेज देने में असमर्थ है, क्योंकि जयललिता जिस समय भर्ती थी उसकी रिकॉर्डिंग ऑटोमैटिक तरीके से डिलीट हो गई है.

जयललिता को बीमारी के चलते 22 सितंबर 2016 को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और 5 दिसंबर 2016 को उनका निधन होने तक वो वहां भर्ती थीं.

अस्पताल ने कहा कि कमीशन की तरफ से मांगी गई फुटेज बहुत पुरानी है और अस्पताल में केवल एक महीने पुरानी फुटेज ही रहती है. इससे पहले वाली ऑटोमैटिक तरीके से डिलीट हो जाती है और उसके ऊपर नई रिकॉर्डिंग हो जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi