S M L

कश्मीर की वादी को लगी हिंसा की नजर, घट गई पर्यटकों की संख्या

आतंकवादी बुरहान वानी की मौत के बाद लगातार जारी है हिंसा

Bhasha Updated On: Jun 23, 2017 09:14 PM IST

0
कश्मीर की वादी को लगी हिंसा की नजर, घट गई पर्यटकों की संख्या

जम्मू कश्मीर में अशांति का असर वहां के पर्यटन उद्योग पर दिखने लगा है और दूसरे साल भी राज्य में आने वाले विदेशी पर्यटकों की संख्या में कमी दर्ज की गई.

साल 2016 में सिर्फ 63,207 विदेशी पर्यटक जम्मू कश्मीर आए, जबकि 2014 में यह संख्या 86,477 थी. पिछले साल आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से ही राज्य में हिंसक प्रदर्शन होते रहे हैं. इस साल देश के शीर्ष 36 पर्यटन गंतव्यों में से राज्य का स्थान 23वां रहा.

पर्यटन मंत्रालय के मार्केट अनुसंधान प्रभाग ने विभिन्न राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के घरेलू और विदेशी पर्यटकों से संबंधित आंकड़ों का संकलन किया है. इन आंकड़ों के अनुसार घरेलू और विदेशी दोनों तरह के पर्यटकों के लिए तमिलनाडु शीर्ष गंतव्य बना रहा है.

साल 2015 में 2.333 करोड़ विदेशी पर्यटक भारत आए थे, जबकि 2016 में यह संख्या 5.92 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 2.471 करोड़ हो गई.

विदेशी पर्यटकों के लिहाज से शीर्ष 10 राज्यों में तमिलनाडु (47.2 लाख), महाराष्ट्र (46.7 लाख), उत्तर प्रदेश (31.6 लाख), दिल्ली (25.2 लाख), पश्चिम बंगाल (15.3 लाख), राजस्थान (15.1लाख ), केरल (10.4 लाख), बिहार (10.1 लाख), गोवा (6.8 लाख ) और पंजाब ( 6.6 लाख) शामिल हैं.

साल 2015 की अपेक्षा 2016 में घरेलू पर्यटकों की संख्या में 12.68 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.

साल 2016 में घरेलू पर्यटकों के लिहाज से भी तमिलनाडु शीर्ष पर था. वहां घरेलू पर्यटकों की संख्या 34.381 करोड़ रही. शीर्ष स्थानों पर रहे अन्य राज्यों में उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश आदि शामिल हैं.

साल 2016 में कुल घरेलू पर्यटकों में शीर्ष 10 राज्यों का योगदान 84.21 प्रतिशत था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi