S M L

J&K पंचायत चुनावः कड़ी सुरक्षा के बीच पहले चरण का मतदान खत्म

पहले चरण के चुनाव में 536 सरपंच हलकों के लिए 427 उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि 4,048 पंच वार्डों के लिए 5,951 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमाने के लिए खड़े हुए हैं

Updated On: Nov 17, 2018 05:13 PM IST

FP Staff

0
J&K पंचायत चुनावः कड़ी सुरक्षा के बीच पहले चरण का मतदान खत्म

जम्मू कश्मीर में आज यानी शनिवार को पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया है. इस चुनाव में कश्मीर घाटी के 6 जिलों, लद्दाख के दो जिलों और जम्मू क्षेत्र के 7 जिलों के लिए लोगों ने अपने वोट डाले.

पहले चरण के इस चुनाव में 536 सरपंच हलकों के लिए 427 उम्मीदवार मैदान में हैं जबकि 4,048 पंच वार्डों के लिए 5,951 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमाने के लिए खड़े हुए हैं.

कश्मीर घाटी में सुबह 10 बजे तक 9 फीसदी मतदान हुआ

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 64 सरपंच हलकों के लिए 64 उम्मीदवार तो 498 पंच वार्डों के लिए 762 प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं. बारामूला जिले में 63 सरपंच हलकों के लिए 148 प्रत्याशी और 497 पंच वार्डों के लिए 630 उम्मीदवार चुनावी जंग में उतरे हैं. श्रीनगर में, 45 पंच वार्डों के लिए 9 और 26 सरपंच हलकों के लिए 35 उम्मीदवार हैं. कश्मीर घाटी में पहले चरण के पंचायत चुनाव में सुबह 10 बजे तक 9 फीसदी मतदान हुआ.

केंद्रों पर कुल 1,35,774 मतदाता पंजीकृत हैं

एक अधिकारी ने बताया, कुल 8.9 फीसदी मतदाताओं ने सुबह 10 बजे तक घाटी में 283 मतदान केंद्रों पर वोट डाले. उन्होंने बताया कि घाटी के 6 जिलों में 16 मंडलों में मतदान के पहले दो घंटे में 12,104 वोट डाले गए. इन मतदान केंद्रों पर कुल 1,35,774 मतदाता पंजीकृत हैं. उन्होंने बताया कि लद्दाख क्षेत्र के 10 मंडलों में 130 मतदान केंद्र हैं. पहले दो घंटे में यहां 1,001 वोट डाले गए. इन मतदान केंद्रों में कुल 25,906 मतदाता हैं और सुबह 10 बजे तक यहां 3.9 फीसदी मतदान हुआ.

 कश्मीर में 1,303 और जम्मू में 1,993 मतदान केंद्र हैं

अधिकारियों ने बताया कि लद्दाख क्षेत्र समेत कश्मीर मंडल में कुल मतदान प्रतिशत सुबह 10 बजे तक 8.1 फीसदी रहा. उन्होंने बताया कि कुल 3,296 मतदान केंद्रों पर सुबह आठ बजे मतदान शुरू हुआ और यह दोपहर दो बजे खत्म होगा. इनमें से कश्मीर में 1,303 और जम्मू में 1,993 मतदान केंद्र हैं. सुचारू रूप से चुनाव कराने के लिए सभी तैयारियां पहले ही कर ली गई थीं. यह चुनाव गैर पार्टी आधार पर हो रहे थे.

अलगाववादियों ने चुनाव के बहिष्कार की अपील की थी

बता दें कि नेशनल कॉन्फ्रेंस, पीडीपी और सीपीएम, सुप्रीम कोर्ट में संविधान के अनुच्छेद 35A को चुनौती देने के कारण चुनाव का बहिष्कार कर रहे थे. इन पार्टियों ने पिछले महीने हुए नगर निकाय चुनाव का भी बहिष्कार किया था. वहीं अलगाववादियों ने चुनाव के बहिष्कार की अपील की थी जबकि आतंकवादियों ने चुनाव में हिस्सा लेने वालों को निशाना बनाने की धमकी भी दी थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi