S M L

चुनाव के आखिरी दिन अलगाववादियों ने बुलाई हड़ताल, घाटी में जनजीवन प्रभावित

अलगाववादी नेताओं ने जॉइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप के बैनर तले मतदान वाले इलाकों के लोगों से अपील की थी कि वे हड़ताल में हिस्सा लें

Updated On: Oct 16, 2018 03:41 PM IST

Bhasha

0
चुनाव के आखिरी दिन अलगाववादियों ने बुलाई हड़ताल, घाटी में जनजीवन प्रभावित
Loading...

जम्मू-कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय चुनाव का विरोध अब भी जारी है, जबकि लोकल बॉडी के चुनाव आज यानी मंगलवार को अपने आखिरी चरण में पहुंच गए हैं. यहां चुनाव कराने के विरोध में अलगाववादियों ने हड़ताल भी बुलाई थी. मंगलवार को इस हड़ताल से जन-जीवन प्रभावित हुआ. कश्मीर घाटी के उन इलाकों में जनजीवन प्रभावित हुआ, जहां मतदान हो रहे हैं.

अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर और गांदरबल के मतदान वाले इलाकों में दुकानें, पेट्रोल पंप और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे. उन्होंने कहा कि इन इलाकों में सार्वजनिक परिवहन सड़कों पर नहीं दिखे जबकि कुछ निजी कारें, कैब और ऑटो-रिक्शा सड़कों पर नजर आए.

सरकार ने मतदान वाले इलाकों में अवकाश की घोषणा की है. अधिकारियों ने बताया कि घाटी में बाकी जगहों पर जनजीवन सामान्य है.

अलगाववादियों- सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक- ने जॉइंट रेजिस्टेंस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले मतदान वाले इलाकों के लोगों से अपील की थी कि वे हड़ताल में हिस्सा लें.

इस बीच, अधिकारियों ने एहतियात के तौर पर घाटी में मोबाइल इंटरनेट की रफ्तार धीमी कर दी है.

बता दें कि स्थानीय निकाय के चुनावों के आखिरी दिन भी मतदान केंद्रों पर बहुत भीड़ नहीं दिखी. चौथे और अंतिम चरण के लिए हो रहे मतदान में 12 बजे तक गंदेरबल में 7.9 प्रतिशत तो श्रीनगर में 2.3 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई.

इस चरण में जिन 132 वार्डों में मतदान हो रहा है, उनमें से कई निर्वाचन क्षत्रों में उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं जबकि कई में एक भी पर्चा नहीं दाखिल किया गया है. ऐसी स्थिति में अब 132 वार्डों में से बस 36 पर ही वोट डाले जा रहे हैं. इस अंतिम चरण में मतदाता श्रीनगर और गंदेरबल जिलों में 150 उम्मीदवारों की राजनीतिक तकदीर का फैसला करेंगे.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi