S M L

कठुआ गैंग रेप केस: 110 सुनवाई में केवल दो दिन कोर्ट पहुंची पीड़ित पक्ष की वकील, परिवार ने किया केस से बाहर

अपनी पक्ष रखते हुए दीपिका ने कहा कि वह रोज सुनवाई में पेश होने के लिए 250 किलोमीटर का सफर नहीं तय क सकतीं

Updated On: Nov 15, 2018 03:11 PM IST

FP Staff

0
कठुआ गैंग रेप केस: 110 सुनवाई में केवल दो दिन कोर्ट पहुंची पीड़ित पक्ष की वकील, परिवार ने किया केस से बाहर

कठुआ गैंगरेप मामले में पीड़ित पक्ष का केस लड़ने वाली वकील दीपिका सिंह रजावत को पीड़िता के पिता ने केस से हटा दिया है. पीड़िता के पिता का दावा है कि दीपिका केस में ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखा रही. अभी तक हुई 110 सुनवाई में वह केवल दो बार ही कोर्ट में पेश हुईं हैं. वह केस को समय नहीं दे पा रहीं.

पीड़ित परिवार की तफ से पेश दूसरे वकील मुबीन फारूकी ने बताया कि दीपिका के पास कोर्ट में सुनवाई के दौरान पेश होने का समय नहीं था. वह पिछले कई महीनों में केवल दो बर ही पेश हुई हैं. वहीं उन्होंने कई दफे यह भी दावा किया है कि केस की सुनवाई के बीच जब भी वह कोर्ट में पेश होती हैं तो उन्हें जान से मरने की धमकी मिलती है.

इन्हीं सब चीजों को ध्यान में रखते हुए उन्हें केस से अलग करने का निर्णय लिया गया है. वहीं वकील दीपिका ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उनका घर पठानकोट से कीब 250 किलोमीटर दू है, ऐसे में हर कुछ दिनों पर होने वाली सुनवाई के लिए वह रोज पठानकोट आ-जा नहीं सकतीं. उन्हें इतना ट्रैवल करने में परेशानी हो रही थी. दीपिका ने कहा, 'मेरी छोटी बच्ची भी है. मुझे उसका भी खयाल रखना होता है. और भी कई काम हैं. वैसे भी इस मामले में पीड़िता का पक्ष दो वरिष्ठ वकील बेहतर तरीके से रख रहे थे. वो मुझसे ज्यादा अनुभवी हैं. अगर हर दूसरे दिन मैं 250 किलोमीटर दूर पठानकोट जाऊंगी तो मेरी अपनी प्रैक्टिस भी प्रभवित होगी.'

दीपिका ही वो शख्स थी जिनके सुप्रीम कोर्ट में अर्जी डालने के बाद यह केस जम्मू कश्मीर से बाहर पठानकोट स्थानांतरित किया गया था.

पीड़िता के पिता द्वारा इस केस से उन्हें हटाने पर राजावत ने कहा, 'यह दु्भाग्यपूर्ण है. जब हर कोई आगे आने से डर रहा था, परिवार का साथ देने से डर रहा था, तब मैं उनके साथ खड़ी थी. पीड़िता के पिता ने ऐसा अनुरोध किया था लेकिन मुझे किसी से कोई शिकायत नहीं है.'

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi