S M L

जम्मू कश्मीर निकाय चुनाव: 12 बजे तक जम्मू क्षेत्र में 57 तो कश्मीर घाटी में 2 प्रतिशत हुआ मतदान

राज्य मतदान के दौरान किले के रूप में तब्दील हो चुका है, ऐसे में कई जगह तो उम्मीदवारों के नाम तक मतदाताओं को नहीं बताए गए हैं

Updated On: Oct 10, 2018 04:21 PM IST

FP Staff

0
जम्मू कश्मीर निकाय चुनाव: 12 बजे तक जम्मू क्षेत्र में 57 तो कश्मीर घाटी में 2 प्रतिशत हुआ मतदान

जम्मू कश्मीर निकाय चुनावों में कहीं रिकॉर्ड मतदान हो रहा है तो कहीं मतदान के नाम पर सिर्फ दो प्रतिशत ही वोटिंग हुई है. देखा जाए तो जम्मू क्षेत्र में दोपहर 12 बजे तक 57 फीसदी मतदान हुआ है. वहीं आतंकवाद से प्रभावित कश्मीर घाटी में शहरी स्थानीय निकायों के 49 वार्डों में मतदान शुरु होने के पहले पांच घंटे के भीतर तकरीबन दो प्रतिशत ही मतदान हुआ.

जम्मू क्षेत्र में शुरुआती छह घंटों के दौरान अनुमानित तौर पर 57 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इस क्षेत्र में 1.28 लाख से ज्यादा मतदाता हैं. जिला चुनाव कार्यालयों से मिली सूचना के हवाले से अधिकारियों ने बताया कि मतदान किश्तवाड़, डोडा, रामबन, रियासी, उधमपुर और कठुआ में हो रहा है. यहां दोपहर 12 बजे तक रिकॉर्ड 57 फीसदी मतदान हुआ है. अधिकारियों ने बताया, ‘तेजी से मतदान हो रहा है और कहीं से भी किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है.’

कुछ इलाकों में तेज तो कुछ मे सुस्त रहा मतदान

उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा मतदान रामबन जिले में हुआ है. यहां 5,533 मतदाताओं में से 62.9 प्रतिशत ने वोट डाल दिया है. इसके बाद रियासी जिला है जहां पर 10,204 मतदाताओं में से 60.8 फीसदी ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है. जबकि कठुआ में 54,622 में से 59.4 प्रतिशत मतदाताओं ने मत दिया है. डोडा में 13,396 मतदाताओं में से 57.8 प्रतिशत ने मतदान किया है.

उन्होंने बताया कि किश्तवाड़ में 55.8 और उधमपुर में 59.4 फीसदी मतदान हुआ है. मतदान के जरिए जम्मू क्षेत्र के 214 वार्डों के 881 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होगा जबकि चार उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं. इस इलाके में पहले चरण का मतदान आठ अक्टूबर को हुआ था जिसमें 56.6 प्रतिशत वोट पड़े थे.

घाटी में खौफ के बीच सिर्फ 2 प्रतिशत मतदान 

घाटी में कड़ी सुरक्षा के बीच चुनाव हो रहे हैं. एक अधिकारी ने कहा, ‘पहले पांच घंटों में 2.20 लाख मतदाताओं में से केवल 1.8 प्रतिशत ने वोट डाले.’ किले में तब्दील हो चुके मतदान केंद्रों में श्रीनगर के 19 वार्डों में 1.78 लाख मतदाताओं में से केवल 1.3 प्रतिशत ने वोट डाले. उन्होंने बताया कि बांदीपोरा जिले में तेजी से मतदान हुआ. सुबह 11 बजे तक 8,300 मतदाताओं में से 17.4 प्रतिशत मतदाताओं ने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

उत्तर कश्मीर के सोपोर में 2.3 प्रतिशत और दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग निर्वाचन क्षेत्र में 0.7 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. दरअसल अलगाववादियों और दो प्रमुख राजनीतिक दलों ने इस चुनाव का बहिष्कार किया है. उन्होंने इन चुनावों में किसी को भी भाग ना लेने की धमकी दी है जिसके चलते किसी भी उम्मीदवार ने चुनाव प्रचार में भाग नहीं लिया.

कई जगह तो उम्मीदवार कौन है ये भी नहीं पता

कई वार्डों खासतौर से दक्षिण कश्मीर में उम्मीदवारों ने नामांकन पत्र तक दाखिल नहीं किया. जो भी उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं उन्हें सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है और उनकी जानकारियां सार्वजनिक नहीं की गई हैं. गौरतलब है कि यह चुनाव 13 साल के अंतराल के बाद हो रहा है. चार चरणों में होने वाले इन मतदानों का तीसरा चरण 13 अक्टूबर को होगा जबकि चौथे और अंतिम चरण का चुनाव 16 अक्टूबर को होगा. मतों की गिनती 20 अक्टूबर को होगी.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi