S M L

जम्मू: बकरवाल समुदाय की एक और बच्ची गैंगरेप की शिकार, भड़का गुस्सा

13 साल की पीड़ित लड़की शुरू में डर की वजह से चुप रही थी लेकिन बाद में उसे पता चला कि वो तीन महीने की गर्भवती है. लड़की को गर्भपात कराने के लिए कहा गया था

Updated On: Jan 13, 2019 01:27 PM IST

FP Staff

0
जम्मू: बकरवाल समुदाय की एक और बच्ची गैंगरेप की शिकार, भड़का गुस्सा

कठुआ में बकरवाल समुदाय की एक नाबालिग लड़की के साथ हुए भयानक रेप और हत्या के एक साल बाद, जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले में मवेशियों को चराने के दौरान खानाबदोश जनजाति के एक अन्य किशोरी के साथ बलात्कार किया गया था. 13 साल की पीड़िता शुरुआत में डर से चुप रही थी लेकिन बाद में उसे पता चला कि वह तीन महीने की गर्भवती है. लड़की को गर्भपात कराने के लिए कहा गया था. डॉक्टरों ने कहा कि गर्भावस्था ने उसकी जान जोखिम में डाल दी.

न्यूज 18 की खबर के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने बलात्कार को लेकर रामसो इलाके में पिछले सप्ताह विरोध प्रदर्शन किया जिसमें आरोप लगाया गया कि पुलिस जांच में धीमी हो गई है.

पिता ने कहा कि उसकी बेटी को चार से पांच आदमियों ने पकड़ लिया था

उन्होंने आरोप लगाया कि यह रेप जम्मू से मुसलमानों को हटाने का एक और प्रयास था जो कथित रूप से कठुआ बलात्कार और हत्या के पीछे का भी उद्देश्य था. पीड़िता के पिता ने कहा कि उसकी बेटी को चार से पांच आदमियों ने पकड़ लिया था जब वह जंगल के पास मवेशियों को चराने गई थी. पिता ने कहा- उसने हमें बताया कि उसने उनके सामने गिड़गिड़ाया लेकिन उन्होंने उसके साथ मारपीट की और उनमें से एक ने उसके साथ तब तक रेप किया जब तक उसने होश नहीं खो दिया. उसको नहीं पता कि उसके साथ कितनी बार रेप किया गया था. अपराधियों ने उसे और उसके परिवार को किसी के सामने घटना का खुलासा करने पर जान से मारने की धमकी दी थी.

लड़की ने महसूस किया कि वह कुछ महीने बाद गर्भवती हुई

एक रिश्तेदार ने कहा कि लड़की ने महसूस किया कि वह कुछ महीने बाद गर्भवती हुई और अपराधियों में से एक से संपर्क किया जिसने उसे कुछ दवा दी थी. एक गांव वाले ने कहा कि लड़की को कुछ ग्रामीणों द्वारा रामबन अस्पताल में स्थानांतरित किया गया था जहां से उसे जम्मू के अस्पताल में भेज दिया गया था. जम्मू के अस्पताल में डॉक्टरों ने नाबालिग पीड़िता के माता-पिता को सूचित किया क्योंकि गर्भावस्था ने उसकी जान जोखिम में डाल दी थी और उसका गर्भपात करना पड़ा था. एक डॉक्टर ने न्यूज 18 को बताया- लड़की का जीवन खतरे में था. भ्रूण का गर्भपात करना आवश्यक था. बता दें कि पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया था.

उसकी मां ने भी केवल एक व्यक्ति पर आरोप लगाया है

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी), रामबन, अनीता शर्मा ने बताया, हमने 4 जनवरी को पीड़िता की मां से शिकायत मिलने के बाद प्राथमिकी दर्ज की थी. शर्मा ने कहा- लड़की के साथ बलात्कार हुआ है लेकिन हम यह नहीं कह सकते हैं कि यह सामूहिक बलात्कार है. उसकी मां ने भी केवल एक व्यक्ति पर आरोप लगाया है. पुलिस ने मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है. शर्मा ने कहा- अब तक, हमने लड़की और उसकी मा का बयान दर्ज किया है. वे अपराध की वास्तविक तारीख नहीं जानते हैं. पुलिस लड़की की सही उम्र की पुष्टि करने की भी कोशिश कर रही है. इस मामले ने कठुआ बलात्कार और हत्या की भयानक यादों को ताजा कर दिया है.

रामबन श्रीनगर राजमार्ग पर जम्मू से 120 किमी दूर है

बकरवाल समुदाय के सदस्यों ने कहा कि वे अब डर में रहते हैं. पीड़िता के पिता ने कहा- हम इस जगह से निकलना चाहते हैं. उन्होंने हमारे घर को नरक में बदल दिया है. यह बेहतर होता कि वे हम सभी को मार देते. उन्होंने मेरी बेटी के साथ ऐसा क्यों किया? एक बकरवाल जनजाति के सदस्य ने कहा, जो पास के गांव में रहता है- हम डर में जी रहे हैं. इन क्षेत्रों में हमारे खिलाफ अपराध और नफरत बढ़ रही है. हम यहां असुरक्षित महसूस करते हैं. बता दें कि रामबन श्रीनगर राजमार्ग पर जम्मू से 120 किमी दूर है. वहीं पीड़ित का गांव शहर से 15 किमी दूर है.

गांव में लगभग 30 घर हैं जिसमें पीड़ित परिवार एकमात्र मुस्लिम है

स्थानीय लोगों के अनुसार, गांव में लगभग 30 घर हैं, जिसमें पीड़ित परिवार एकमात्र मुस्लिम है. पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस मामले को खून-खराब और परेशान करने वाला बताते हुए कहा कि कुछ नेता अब बलात्कारियों के बचाव में सामने आएंगे. मुफ्ती ने ट्वीट में लिखा- एक ऐसे मामले से ज्यादा खून बहना और परेशान करने वाली बात और क्या हो सकती है, जहां एक 13 साल की नाबालिग लड़की का रामसू में गैंगरेप किया गया और वह 3 महीने की गर्भवती है. सार्वजनिक आक्रोश के बजाय सवाल इस मासूम बच्ची और उसके बलात्कारियों के जाति और धर्म के बारे में घूमेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi