S M L

जल्लीकट्टू: हिंसक प्रदर्शन के बीच नए कानून के लिए विशेष सत्र

जलीकट्टू पर सोमवार को विधानसभा में बिल पेश किया जाएगा.

FP Staff Updated On: Jan 23, 2017 03:10 PM IST

0
जल्लीकट्टू: हिंसक प्रदर्शन के बीच नए कानून के लिए विशेष सत्र

तमिलनाडु में जल्लीकट्टू पर लगी रोक हटाने के लिए अध्यादेश लाने के बाद भी लोगों का प्रदर्शन जारी है. पुलिस द्वारा प्रदर्शन रोके जाने के बाद हिंसा भड़क गई है.

सोमवार को पुलिस ने चेन्नई के मरीना बीच पर जुटे प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाना शुरू कर दिया. इसके बाद नाराज प्रदर्शनकारियों ने एक थाने में आग लगा दी. हिंसक प्रदर्शन के कारण 20 पुलिसवालों के घायल होने की भी खबर है. पुलिस ने लाठी चार्ज किया है.

इस बीच सोमवार को जल्लीकट्टू पर विधानसभा में बिल पारित किया जाएगा. इसके लिए शाम 5 बजे विशेष सेशन बुलाया गया है.

पुलिस कार्रवाई से गुस्साए लोगों ने पास के आई हाउस थाने में आग लगा दी.

राजधानी चेन्नई के मरीना बीच पर पिछले 6-7 दिन प्रदर्शनकारी डटे थे. रविवार रात यहां पुलिस पहुंची और पहले तो प्रदर्शन खत्म करने के लिए लोगों को समझाया. उनके न मानने के बाद पुलिस को बलप्रयोग करना पड़ा. पुलिस ने भीड़ पर लाठियां भी चलाईं. हालांकि महिलाओं और बच्चों को भीड़ के बीच से सुरक्षित निकाला गया.

लोग पुलिस कार्रवाई से बचने के लिए ह्यूमन चेन बनाकर खड़े हो गए, जबकि कुछ लोग समुद्र की ओर भागे. पुलिसकर्मी जब प्रदर्शनकारियों को हटा रहे थे, तो लोग 'जन-गण-मन' गाने लगे. लाठीचार्ज के बाद पूरा इलाका खाली करा लिया गया है.

चेन्नई के अलावा मदुरै, कोयंबटूर और त्रिची से भी प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाया जा रहा है.

विधानसभा में आएगा बिल

सीएम पनीरसेल्वम ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि सोमवार को जलीकट्टू पर विधानसभा में बिल पेश किया जाएगा. प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज के खिलाफ विधानसभा से डीएमके ने वॉकआउट किया. वहीं, राज्य के राज्यपाल विद्यासागर राव ने संबोधन में जलीकट्टू पर प्रतिबंध के लिए यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराया.

पुलिस की कार्रवाई जल्लीकट्ट के आयोजन के लिए एक अध्यादेश जारी होने के बाद राज्य सरकार द्वारा कई स्थानों पर जल्लीकट्ट के आयोजन के एक दिन बाद शुरू हुई है.

स्थायी समाधान की मांग 

प्रदर्शनकारी यह अध्यादेश लाए जाने से संतुष्ट नहीं हैं और इस मुद्दे पर एक स्थायी समाधान चाहते हैं.

पुलिस ने राज्य के अन्य इलाकों से भी प्रदर्शनकारियों को चले जाने को कहा है. तिरुनेलवेली जिले में प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के आग्रह पर प्रदर्शन रोक दिया. मदुरै में प्रदर्शन जारी है और पुलिस व प्रदर्शनकारियों के बीच बातचीत चल रही है.

तमिलनाडु में जलीकट्टू के आयोजन के दौरान राज्य में 2 लोगों के मौत की खबर है. ये मौते पुदुकोट्टई जिले में हुई। जबकि राज्य के अलग-अलग हिस्सों में करीब 129 लोगों के जख्मी होने की खबर है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi