S M L

राफेल पर बोले जेटली- कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से समझौता किया

नोटबंदी के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यह कठिन फैसला था और आरोप लगाए जा रहे थे कि इससे जीडीपी में 2 प्रतिशत की गिरावट आएगी. लेकिन आंकड़े गवाह हैं कि सिर्फ 0.4 प्रतिशत की कमी आने का अनुमान है

Updated On: Feb 08, 2018 08:04 PM IST

FP Staff

0
राफेल पर बोले जेटली- कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से समझौता किया

राफेल सौदे पर कांग्रेस के आरोपों का जवाब देते हुए जेटली ने कहा, ‘मैं कांग्रेस और कांग्रेस अध्यक्ष पर देश की सुरक्षा से गंभीर समझौता करने का आरोप लगाता हूं’

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि वैश्विक आर्थिक मंदी की स्थिति के बावजूद केंद्र की NDA सरकार की संरचनात्मक सुधार पहल और ठोस नीतियों के कारण भारत की वृद्धि दर पिछले तीन सालों में दुनिया में सर्वोच्च बनी रही और जीएसटी, नोटबंदी जैसे कठिन निर्णयों के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया का ‘उज्जवल प्रकाश पुंज’ है.

जीएसटी पर जेटली

लोकसभा में साल 2018-19 के केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अर्थव्यवस्था की धुंधली तस्वीर पेश कर रही है लेकिन आंकड़े गवाह हैं कि राजकोषीय स्थिति से लेकर सकल घरेलू उत्पाद, मुद्रा स्फीति, विदेशी मुद्रा भंडार जैसे पैमाने पर देश की स्थिति कांग्रेस नीत UPA की पूर्ववर्ती सरकार की तुलना में कहीं बेहतर है.

आईएमएफ और अन्य रेटिंग एजेंसी के आंकड़े का हवाला देते हुए जेटली ने कहा, 'हमें अर्थव्यवस्था के संदर्भ में जो चीजें विरासत में मिलीं, उसके बाद से हमारी सरकार की संरचनात्मक सुधार पहल के कारण अब स्थिति बिल्कुल अलग हो गई है. तब UPA कोई भारत की सबसे तेज गति से बढ़ती अर्थव्यवस्था की चर्चा कोई नहीं करता था. केंद्र में हमारी सरकार के आने के बाद पिछले तीन सालो में भारत की वृद्धि दर दुनिया में सर्वोच्च बनी रही.'

उन्होंने कहा कि 2014-15 में जीडीपी वृद्धि दर 7.5 प्रतिशत, 2015-16 में 7.6 प्रतिशत और 2016-17 में 7.1 प्रतिशत रही. इस साल इसके 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है.

जेटली ने कहा कि तब भी चर्चा यह हो रही है कि क्या इस साल भारत 0.1 प्रतिशत से दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था होने से चूक जाएगा.

उन्होंने कहा कि कृषि, गरीबी उन्मूलन, रोजगार देश के समक्ष चुनौती हैं लेकिन क्या ये चुनौतियां पिछले चार साल में उत्पन्न हुई हैं ?

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए वित्त मंत्री ने कहा, 'पिछले 55 सालों तक आप सत्ता में थे, ऐसे में आपको यह आत्मचिंतन करना चाहिए कि इन चुनौतियों के संदर्भ में आपका क्या योगदान रहा.'

उन्होंने कहा कि पिछले चार सालो में हमारी सरकार ने जीएसटी, नोटबंदी समेत अनेक संरचनात्मक सुधार पहल लागू की.

चार सालों में जिस प्रकार के आर्थिक सुधार किए गए, मैं नहीं समझता कि पहले ऐसा हुआ. इन सुधारों से आने वाले समय में लाभ मिलेगा.'

तृणमूल कांग्रेस ने भी जीएसटी का समर्थन किया

तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के आरोपों के संदर्भ में जेटली ने कहा कि जब तृणमूल कांग्रेस केंद्र में तत्कालीन UPA सरकार का समर्थन कर रही थी तब राजकोषीय घाटा 6 प्रतिशत था और मुद्रा स्फीति की दर 11.12 प्रतिशत थी. आज राजकोषीय घाटा को 3.2 प्रतिशत लाने के प्रयास कर रहे हैं और मुद्रा स्फीति की दर 4 प्रतिशत से थोड़ी अधिक है.

जीएसटी के संदर्भ में उन्होंने कहा कि जीएसटी को लागू करने में केंद्र के साथ राज्यों की सहभागिता रही है और इसमें कांग्रेस की प्रदेश सरकारें भी शामिल है. तृणमूल कांग्रेस ने भी इसका समर्थन किया था. इस बारे में संविधान संशोधन किया गया और इसे सितंबर 2017 तक लागू करने की संवैधानिक बाध्यता थी. इसलिए इसे लागू किया गया.

उन्होंने कहा, 'कुछ महीनों के अंदर हम जीएसटी को स्थिर करने में सक्षम रहे हैं, हमने राजस्व वृद्धि के साथ दरें कम की हैं.'

जीएसटी दर के बारे में कांग्रेस के आरोपों पर जेटली ने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस नीत सरकार थी तब 31 प्रतिशत तक कर वसूला जाता था और NDA सरकार आने के बाद वे 18 प्रतिशत की सीमा तय करने की सलाह दे रहे हैं.

नोटबंदी के संदर्भ में उन्होंने कहा कि यह कठिन फैसला था और आरोप लगाए जा रहे थे कि इससे जीडीपी में 2 प्रतिशत की गिरावट आएगी. लेकिन आंकड़े गवाह हैं कि सिर्फ 0.4 प्रतिशत की कमी आने का अनुमान है. इसमें जीएसटी का भी योगदान रहा है. उन्होंने कहा कि कारोबार सुगमता में भारत की स्थिति बेहतर हुई है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi