S M L

महिलाओं की वर्जिनिटी पर ज्ञान देने वाले प्रोफेसर की बढ़ेंगी मुश्किलें, हो सकती है कानूनी कार्रवाई

जेयू के वाइस चांसलर सुरंजन दास ने कहा है कि वह इस मामले में कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हों

Updated On: Jan 18, 2019 05:25 PM IST

Bhasha

0
महिलाओं की वर्जिनिटी पर ज्ञान देने वाले प्रोफेसर की बढ़ेंगी मुश्किलें, हो सकती है कानूनी कार्रवाई

सोशल मीडिया पर महिला विरोधी टिप्पणी करने के मामले में जाधवपुर यूनिवर्सिटी (जेयू) परिसर में प्रोफेसर कनक सरकार को पहले ही प्रवेश करने से रोक लगा दी गई है. लेकिन उनकी मुश्किलें अभी कम नहीं होंगी. अब यूनिवर्सिटी उनके खिलाफ लीगल एक्शन लेने पर भी विचार कर रही है.

सरकार के प्रवेश पर पाबंदी लगाने के दो दिन बाद जेयू के वाइस चांसलर सुरंजन दास ने कहा है कि वह इस मामले में कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं ताकि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हों.

जेयू के इंटरनेशनल रिलेशन्स डिपार्टमेंट के प्रोफेसर सरकार ने पिछले दिनों फेसबुक पर की गई एक टिप्पणी में महिलाओं की वर्जिनिटी की तुलना बोतल की सील से की थी.

सरकार ने अपनी टिप्पणी पर विवाद के तुरंत बाद उसे फेसबुक से हटा लिया था, लेकिन उनकी टिप्पणी के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर खूब साझा किए गए. इस मामले के तूल पकड़ने के बाद प्रोफेसर सरकार की खूब निंदा हुई.

दास ने गुरूवार को बताया कि यूनिवर्सिटी के नियम-कायदों के हिसाब से आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा, ‘मामले की गहन जांच की खातिर यूनिवर्सिटी की ओर से नियुक्त समिति की ओर से रिपोर्ट दाखिल किए जाने के समय तक सरकार के परिसर में प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है. हम उनके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं.’

दास ने कहा, ‘इसके अलवा, राष्ट्रीय महिला आयोग और पश्चिम बंगाल महिला आयोग भी उनके खिलाफ लगे आरोपों की जांच कर रहा है.’

दास ने यह भी कहा कि महिला आयोग की टीम अगले हफ्ते जब यूनिवर्सिटी परिसर में आएगी तो वह आयोग के प्रतिनिधियों का सहयोग करेंगे.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi