S M L

सोशल मीडिया से फैल रही हिंसा को रोकने में लगातार जुटी सरकार: रविशंकर प्रसाद

सूचना एवं तकनीकी मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार सोशल मीडिया पर शेयर की जाने वाली गलत और झूठी खबरों की वजह से फैल रही हिंसा पर रोक लगाने लगातार काम कर रही है

Updated On: Jul 26, 2018 06:32 PM IST

FP Staff

0
सोशल मीडिया से फैल रही हिंसा को रोकने में लगातार जुटी सरकार: रविशंकर प्रसाद

केंद्र सरकार सोशल मीडिया पर शेयर की जाने वाली गलत और झूठी खबरों की वजह से फैल रही हिंसा पर रोक लगाने के लिए लामबंद और इसके लिए वो वॉट्सऐप और फेसबुक को लगातार निर्देश दे रही है और इस दिशा में काम कर रही है. सूचना एवं प्रसारण मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ये बातें गुरुवार को संसद के मॉनसून सत्र में कहीं.

राज्यसभा में बोल रहे सूचना एवं तकनीकी मंत्री ने कहा कि 'सरकार को इस बात का अहसास है कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल भारत के रणनीतिक हित और आर्थिक स्थिरता को नुकसान पहुंचाने के लिए किया जा रहा है और भारत सरकार इस स्थिति से निपटने के लिए प्रतिबद्ध है.'

प्रसाद ने कहा कि 'हाल ही में कई दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं में कई मासूमों की जान गई है. ये सरकार के लिए दुखद है. सरकार ने जरूरी कदम उठाए हैं. सरकार ने डेटा ब्रीच पर फेसबुक और कैंब्रिज एनालिटिका से भी सवाल उठाए हैं.'

उन्होंने वॉट्सऐप को दिए गए भारत सरकार के निर्देश पर कहा कि 'सरकार ने वॉट्सऐप को नोटिस भेजा है. जितनी घटनाएं हुई हैं, उनमें से अधिकतर वॉट्सऐप से फैली अफवाहों की वजह से हुई हैं. हमारे निर्देश के बाद वॉट्सऐप ने ऐसे कंटेंट को फैलने से रोकने के लिए फॉरवर्ड लेबल और मैसेज फॉरवर्ड करने पर लिमिट लगाने जैसे कदम उठाए हैं.'

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में सरकार ने वॉट्सऐप और कई अन्य मैसेंजिंग ऐप को निर्देश देते हुए कहा था कि उनके जरिए फैल रही फर्जी खबरों, वीडियो और तस्वीरों पर वे लगाम लगाएं. महाराष्ट्र समेत देश के कई हिस्सों में पिछले कुछ महीने में अफवाहों के चलते 20 से ज्यादा लोगों की हत्या के मामले के बाद केंद्र ने यह चेतावनी जारी की.

केंद्र सरकार ने कहा था कि वॉट्सऐप उसके मंच से फैलाई जा रही ऐसी अफवाहों को रोकने के लिए तुरंत कदम उठाए. ऐसी अफवाहें फैलती हैं तो व्हॉट्सऐप या अन्य सोशल साइट अपनी जिम्मेदारी और जवाबदेही से नहीं बच सकते हैं.

इसके बाद वॉट्सऐप ने इस दिशा में कदम उठाने का आश्वासन दिया और सरकार का सहयोगा मांगा. वॉट्सऐप ने इस क्रम में पहला कदम उठाते हुए फेक न्यूज को फैलने से रोकने के लिए नया फीचर टेस्ट लॉन्च किया है. वॉट्सऐप फॉरवर्ड मैसेज पर लिमिट लगाने की सोच रहा है. इस फीचर के तहत फॉरवर्ड किए जा रहे मैसेज पर फॉरवर्ड का लेबल लगा होगा और आप कोई भी मैसेज, फोटो या वीडियो बस पांच बार ही फॉरवर्ड कर पाएंगे.

भारत में वॉट्सऐप चैट्स की लिमिट 5 बार तक ही रख रहा है. अगर आप 5 बार से ज्यादा कोई मैसेज या मीडिया फॉरवर्ड करने की कोशिश करेंगे तो वॉट्सऐप फॉरवर्ड बटन को डिसेबल कर देगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi