S M L

नरीमन हाउस पर बेबी मोशे से मिले इजरायली पीएम नेतन्याहू

26/11 के मुंबई आतंकी हमले में अपने माता पिता को खो चुके मोशे होलत्जबर्ग की उम्र अभी 11 साल है, 2008 के आतंकवादी हमले के वक्त वह केवल दो साल के थे

FP Staff Updated On: Jan 18, 2018 05:38 PM IST

0
नरीमन हाउस पर बेबी मोशे से मिले इजरायली पीएम नेतन्याहू

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के भारत दौरे पर साथ आए 26/11 हमलों में बचे बेबी मोशे से उन्होंने नरीमन हाउस पर मुलाकात की. मोशे होलत्जबर्ग 2008 में मुंबई आतंकवादी हमलों में जिंदा बच गए थे जबकि उनके माता पिता को जान गंवानी पड़ी थी.

बेंजामिन नेतन्याहू 6 दिवसीय दौरे पर भारत आए हुए हैं. गुरुवार को उन्होंने मुंबई के कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया. नरीमन हाउस को 26/11 मुंबई आतंकी हमलों की याद में स्मारक का रूप दिया जाएगा. इसकी घोषणा भी इजरायली पीएम नेतन्याहू ही करेंगे. इस मौके पर उनका साथ देने के लिए बेबी मोशे वहां मौजूद रहेंगे.

26/11 के मुंबई आतंकी हमले में जिंदा बच गए मोशे होलत्जबर्ग की उम्र अभी 11 साल है, 2008 के आतंकवादी हमले के वक्त वह केवल दो साल के थे. मुंबई के चाबद हाउस (नरीमन हाउस) पर हुए हमले में उसके माता-पिता मारे गए थे. वो उनके शव के बीच रोता हुआ मिला था. मोशे को उसकी भारतीय नैनी सैंड्रा सैमुअल ने बहादुरी दिखाकर बचाया था.

26 नवंबर, 2008 को मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी.

पिछले साल 5 जुलाई को यरुशलम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात में भावुक मोशे ने मुंबई आने की इच्छा जाहिर की थी. मोशे ने कहा था कि मुझे उम्मीद है कि मैं मुंबई की यात्रा कर सकूंगा और बड़े होने पर वहां रह भी सकूंगा. मैं अपने चाबद हाउस का निदेशक भी बनूंगा.

इसपर मोदी ने कहा था कि भारत आओ और मुंबई में रहो. तुम्हारा बहुत स्वागत है. आप को और आपके परिवार को लंबे समय तक रहने का वीजा मिलेगा. जिससे कि आप कभी भी आ सकते हैं और कहीं भी जा सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi