S M L

'गौपालक, गौ रक्षक का इस्लाम धर्म मानने वाले भी विरोध नहीं करते'

भागवत ने कहा कि विदेशों में भारतीय चिकित्सकों की बड़ी प्रतिष्ठा है, क्योंकि ये चिकित्सक आस्थापूर्वक इलाज करते हैं

Bhasha Updated On: Jan 24, 2018 09:31 PM IST

0
'गौपालक, गौ रक्षक का इस्लाम धर्म मानने वाले भी विरोध नहीं करते'

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघ चालक मोहन भागवत ने बुधवार को कहा कि गोपालक और गौ रक्षक का भारत में इस्लाम धर्म मानने वाले लोग भी विरोध नहीं करते.

स्वामी विवेकानंद कैंसर अस्पताल का उद्धघाटन करते हुए भागवत ने कहा कि गोपालक और गौ रक्षक का भारत में इस्लाम धर्म मानने वाले लोग भी विरोध नहीं करते. बहुत से मुसलमान भी गौ मांस नहीं खाते हैं. उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि देश में पहले निराशा का वातावरण था.

भागवत ने देश में उपद्रव फैलाने वालों पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत एक ना रहे इसलिए कुछ लोग स्वार्थवश समाज को अलग अलग बांट रहे हैं. लेकिन हमें धैर्य नहीं खोना चाहिए और हमें समाज हित में काम करते रहना होगा. उन्होंने कहा कि भारत के सभी धर्म के लोग सहोदर भाई हैं.

भागवत ने देश के किसानों की हालत चिंताजनक बताते हुए कहा कि देश की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारनी जरूरी है. इसके लिए कृषि के साथ गौपालन और जैविक खेती को साथ लेकर काम करने की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि भारत में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा दुर्लभ एवं महंगी होती जा रही है, इन दोनों को सस्ता होना चाहिए. गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और स्वास्थ की सेवा सबको मिलनी चाहिए.

भागवत ने कहा कि विदेशों में भारतीय चिकित्सकों की बड़ी प्रतिष्ठा है, क्योंकि ये चिकित्सक आस्थापूर्वक इलाज करते हैं. देश में सरकारी अस्पतालों में सुविधा है लेकिन विश्ववास और आस्थापूर्वक चिकित्सा का वातावरण बनाने की जरूरत है.

इससे पूर्व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकताओं को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि संघ का कार्य संपूर्ण समाज और जाति को अपना मानकर सेवा करने की है. समाज के लिए कार्य करने वाले ही स्वयंसेवक हैं.

कैंसर अस्पताल के उद्घाटन के अवसर पर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्वनी चौबे ने कहा कि बिहार में भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर के द्वारा मुजफ्फरपुर स्थित श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल में 150 करोड़ रूपए की लागत से 250 बिस्तर वाला कैंसर अस्पताल खोला जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi