S M L

देश की 23 बीमा कंपनियों के पास बिना दावे के पड़े हैं 15,167 करोड़ रुपए

बिना दावे वाली कुल 15,166.47 करोड़ रुपए की राशि में से भारतीय जीवन बीमा निगम के पास अकेले ही 10,509 करोड़ रुपए पड़े हैं.

Updated On: Jul 29, 2018 04:31 PM IST

Bhasha

0
देश की 23 बीमा कंपनियों के पास बिना दावे के पड़े हैं 15,167 करोड़ रुपए

देश की 23 बीमा कंपनियों के पास बीमाधारकों का 15,167 करोड़ रुपए बिना दावे का पड़ा है. इस पैसे का कोई लेनदार नहीं है. भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने बीमा कंपनियों से इस तरह के बीमाधारकों की पहचान करने और उन्हें उनका पैसा देने के निर्देश दिए हैं.

हर बीमा कंपनी में पॉलिसीधारक की सुरक्षा के लिए बनायी गई निदेशक स्तरीय समिति को जिम्मेदारी दी गई है कि वह बीमाधारकों के सभी बकायों का समय से भुगतान करे. बिना दावे वाली कुल 15,166.47 करोड़ रुपए की राशि में से भारतीय जीवन बीमा निगम के पास अकेले ही 10,509 करोड़ रुपए पड़े हैं. जबकि निजी क्षेत्र की अन्य 22 बीमा कंपनियों के पास ऐसे 4,657.45 करोड़ रुपए पड़े हैं जिनका कोई दावेदार सामने नहीं आ रहा है.

निजी बीमा कंपनियों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के पास 807.4 करोड़ रुपए, रिलायंस निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस के पास 696.12 करोड़ रुपए, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस के पास 678.59 करोड़ रुपए और एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस में 659.3 करोड़ रुपए पड़े हैं.

इरडा ने इन जीवन बीमा कंपनियों से कहा है कि वह सभी अपनी वेबसाइट पर एक खोज सुविधा उपलब्ध कराएं जिसपर पॉलिसी धारक अथवा लाभार्थी या फिर उनके परिवार के सदस्य इस बात का पता लगा सकें कि क्या उनका कोई बकाया कंपनी के पास लंबित है.

पालिसीधारक को बीमा कंपनियों की वेबसाइट पर अपना पालिसी नंबर, पैन, नाम, जन्मतिथि और आधार नंबर आदि डालना होगा. बीमा कंपनियों से यह भी कहा गया है कि वह हर छह महीने में उनके पास पड़ी बिना दावे के बीमा राशि के बारे में जानकारी को अपडेट करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi