Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

अल्पसंख्यकों को शिक्षा देने के लिए देश भर में खोले जाएंगे संस्थान: नकवी

अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में 100 नवोदय विद्यालय जैसे स्कूल खोले जाएंगे

Bhasha Updated On: Jul 06, 2017 06:49 PM IST

0
अल्पसंख्यकों को शिक्षा देने के लिए देश भर में खोले जाएंगे संस्थान: नकवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय द्वारा अल्पसंख्यकों को बेहतर पारंपरिक एवं आधुनिक शिक्षा मुहैया कराने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर के 5 शिक्षण संस्थानों की स्थापना की जाएगी.

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि आधुनिक, तकनीकी, मेडिकल, आयुर्वेद, यूनानी सहित विश्वस्तरीय कौशल विकास की शिक्षा देने वाले संस्थान देश भर में स्थापित किए जा रहे हैं. हमारी कोशिश है कि यह शिक्षण संस्थान अगले दो वर्षों में काम करना शुरू कर दें. इन शिक्षण संस्थानों में 40 प्रतिशत आरक्षण लड़कियों के लिए किए जाने का प्रस्ताव है.

मौलाना आजाद एजुकेशन फाउंडेशन के संचालक मंडल और आम सभा की बैठक के दौरान गुरूवार को अल्पसंख्यक मंत्रालय ने अल्पसंख्यकों के शैक्षिक सशक्तिकरण और विश्वस्तरीय शैक्षिक संस्थानों की स्थापना हेतु गठित एक उच्च स्तरीय 11-सदस्यीय समिति की रिपोर्ट नकवी को सौंपी.

उन्होंने कहा कि कोई भी गरीब बच्चा शिक्षा से वंचित नहीं रहे इसके लिए हम शिक्षा का एक बड़ा अभियान तहरीके तालीमै शुरू कर रहे हैं, जिसके तहत हम शिक्षा के संसाधन एवं सुविधाओं का हर क्षेत्र में व्यापक जाल बिछाएंगे. इसकी शुरूआत पूर्व राष्ट्रपति ए.पी.जे अब्दुल कलाम की जयंती के अवसर पर 15 अक्टूबर को की जाएगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में 100 नवोदय विद्यालय जैसे स्कूल खोले जाएंगे. 23 गुरकुल जैसे विद्यालयों की स्थापना की गई है.

तालीम से देश करेगा तरक्की

नकवी ने कहा कि समिति द्वारा अल्पसंख्यकों की शिक्षा के लिए बड़े प्रभावी कदम उठाने, शैक्षिक सशक्तिकरण एवं गरीबों को शिक्षा देने के उपायों से सम्बंधित तमाम सुझावों पर सरकार गंभीरता से विचार करेगी.

उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य समावेशी विकास और विश्वास है. कोई भी नकारात्मक एजेंडा हमारे विकास और विश्वास के माहौल को कमजोर नहीं कर सकता. तालीम के जरिए तरक्की के रास्ते में किसी भी प्रकार की बाधा को हम सब को मिल कर दूर करना होगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
जो बोलता हूं वो करता हूं- नितिन गडकरी से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi