S M L

छंटनी की खबरें गलत, इस साल 20,000 को जॉब ऑफर: इंफोसिस

हम अधिक रोजगार पैदा कर रहे हैं, अधिक लोगों को रख रहे हैं. केवल प्रदर्शन के आधार पर थोड़े से लोगों को निकाल रहे हैं

Updated On: Jun 02, 2017 08:18 PM IST

Bhasha

0
छंटनी की खबरें गलत, इस साल 20,000 को जॉब ऑफर: इंफोसिस

देश की दिग्गज आईटी कंपनी इंफोसिस ने बड़े पैमाने पर छंटनी संबंधी खबरों को ‘बढ़ा-चढ़ाकर पेश की गई रिपोर्ट’ करार दिया है. कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि 'वह इस साल 20 हजार जॉब ऑफर देगी. जबकि उसने केवल 400 कर्मचारियों को पर्फॉमेंस बेसिस पर निकालने का फैसला किया है.'

इंफोसिस के सीओओ यू बी प्रवीण राव ने कहा कि प्रौद्योगिकी आधारित बदलाव से इंफोसिस जैसी कंपनियों के सामने नए अवसर पैदा हुए हैं.

राव ने दिल्ली में शुक्रवार को आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुलाकात की. बैठक के बाद उन्होंने कहा, ‘यह तो प्रदर्शन आधारित काम है जो हम हर साल करते हैं. वास्तविक संख्या 300-400 है जो तो हर साल ही होती है.’

infosys

उन्होंने कहा कि देश की यह दूसरी सबसे बड़ी साफ्टवेयर निर्यातक कंपनी ‘अधिक रोजगार पैदा कर रही है, अधिक लोगों को रख रही है और केवल प्रदर्शन के आधार पर थोड़े से ही लोगों को निकाल रही है.’

आईटी मंत्री के साथ मुलाकात के समय इंफोसिस के को-चेयरमैन रवि वेंकटेशन भी वहां मौजूद थे. रविशंकर प्रसाद ने भी कहा कि टीसीएस और इंफोसिस जैसी आईटी कंपनियां बड़ी पैमाने पर हायरिंग करती रहेंगी.

उन्होंने कहा,‘ टीसीएस ने लिखा है कि उन्होंने बीते तीन साल में 2.5 लाख लोगों को नौकरी दी है, इस साल वे 20 हजार लोग और रखेंगे. बड़े पैमाने पर छंटनी से जुड़े ये सारे समाचार गलत हैं.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi