S M L

थोक महंगाई तीन माह तक बढ़ेगी: नोमुरा

मुद्रास्फीति अगले तीन माह तक बढ़ेगी और वर्ष 2017 में थोक महंगाई की औसत दर 4.4 फीसदी के आस पास रहेगी

Updated On: Feb 15, 2017 07:07 PM IST

Bhasha

0
थोक महंगाई तीन माह तक बढ़ेगी: नोमुरा

वित्तीय सेवा कंपनी नोमुरा का अनुमान है कि भारत में थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति अगले तीन माह तक बढ़ेगी और वर्ष 2017 में थोक महंगाई की औसत दर 4.4 फीसदी के आस पास रहेगी.

वर्ष 2016 में डब्ल्यूपीआई मुद्रास्फीति औसतन 2 फीसदी थी.

जनवरी में थोक मुद्रास्फीति बढ़ कर 5.2 फीसदी पर पहुंच गई जबकि दिसंबर में यह 3.4 फीसदी थी. यह उछाल उस समय दिख रहा है जबकि बाजार नोटबंदी से प्रभावित था.

नोमुरा की मुख्य अर्थशास्त्री सोनल वर्मा ने कहा कि थोक मुद्रास्फीति में यह बढ़ोतरी कोई ‘मांग जनित’ नहीं है. बल्कि मुख्यत: जिंसों के दामों में बढ़ोतरी का नतीजा है. साथ ही इससे कंपनियों के लाभ के मार्जिन पर दबाव का भी संकेत मिलता है.

इसके मांग जनित न होने का कारण यह बताया गया है कि जनवरी में लकड़ी, चमड़ा, गैर धात्विक सामान, मशीनरी और मशीन टूल और ट्रांसपोर्ट उपकरणों के दामों में गिरावट दर्ज की गयी.

नोमुरा की रिपोर्ट में कहा गया है, 'थोक मुद्रास्फीति अभी तीन महीने तक और बढ़ेगी और उसके बाद इसमें गिरावट आएगी.’

रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2017 में डब्ल्यूपीआई औसतन 4.4 फीसदी रहेगी जो 2016 के 2 फीसदी के औसत से काफी ऊंची है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi