S M L

वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली पहली महिला होंगी इंदु मल्होत्रा, के एम जोसेफ के नाम पर सरकार अब भी चुप

इंदु मल्होत्रा सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली सातवीं महिला है. फिलहाल भानुमति सु्प्रीम कोर्ट में एकलौती महिला जज है

Updated On: Apr 26, 2018 11:10 AM IST

FP Staff

0
वकील से सीधे सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली पहली महिला होंगी इंदु मल्होत्रा, के एम जोसेफ के नाम पर सरकार अब भी चुप

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस पद के लिए सरकार ने सीनियर ऐडवोकेट इंदु मल्होत्रा की नियुक्ति को हरी झंडी दे दी है. इंदु मल्होत्रा शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर शपथ लेने वाली हैं. इसी के साथ वे बार से सीधे सुप्रीम कोर्ट  की जस्टिस नियुक्त होने वाली वह पहली महिला जज बन गई हैं.

इस पद के लिए सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम टीम ने दो नामों (इंदु मल्होत्रा और केएम जोसेफ) का सुझाव दिया था. पांच सदस्यों की कॉलेजियम टीम ने दीपक मिश्रा के नेतृत्व इन नामों को चुना था. टीम ने केंद्र सरकार को इन दो नामों का सुझाव 10 जनवरी को दिया था. हालांकि सरकार ने उत्तराखंड हाई कोर्ट के जज पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और इंदु मल्होत्रा के नाम को मंजूरी दे दी.

के एम जोसेफ को मंजूरी न मिलने का एक कारण ये भी बताया जा रहा है कि 2016 में केंद्र उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लाना चाहती थी मगर केएम जोसेफ ने केंद्र सरकार के इस फैसले को खारिज कर दिया था. इसके बाद कॉलेजियम टीम ने जोसेफ का नाम आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट के जज के तौर भी सुझाया था मगर तब भी सरकार ने उनके नाम को कोई तवज्जो नहीं दी थी.

सूत्रों ने बताया कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद, प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा को इंदु को नियुक्त किए जाने के सरकार के फैसले के बारे में पत्र लिखेंगे.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस कुरियन जोसेफ ने पिछले दिनों सीजेआई दीपक मिश्रा को चिट्ठी लिखी थी जिसमें उन्होंने कॉलेजियम के सुझावों पर कोई कदम नहीं उठाने की सरकार की मंशा पर सवाल उठाए थे. 9 अप्रैल को लिखे पत्र में जस्टिस जोसेफ ने सीजेआई को लिखा था कि जजों की नियुक्ति नहीं कर पाने की वजह से सुप्रीम कोर्ट का गौरव और सम्मान दिन पर दिन घटता जा रहा है.

जस्टिस चेलामेश्वर ने भी फरवरी में जजों की नियुक्ति में सरकार की तरफ से देरी की आलोचना की थी. उन्होंने सीजेआई को लिखा था, 'हमारा दुखद अनुभव यह है कि ऐसा बहुत कम होता है जब सरकार हमारे सुझाव मानती है.'

इंदु मल्होत्रा आजादी के बाद सुप्रीम कोर्ट की जज बनने वाली सातवीं महिला हैं. फिलहाल भानुमति सु्प्रीम कोर्ट में एकलौती महिला जज हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi