S M L

मेडिकल जांच में फिट मिलने पर इंद्राणी मुखर्जी को अस्पताल से मिली छुट्टी

इंद्राणी के मेडिकल टेस्ट के परिणाम सामान्य आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. यहां से उन्हें वापस भायखला महिला जेल शिफ्ट कर दिया गया

Bhasha Updated On: Jun 19, 2018 10:21 AM IST

0
मेडिकल जांच में फिट मिलने पर इंद्राणी मुखर्जी को अस्पताल से मिली छुट्टी

बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी और आईएनक्स मीडिया की सह- संस्थापक इंद्राणी मुखर्जी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. इंद्राणी को ‘सीने में दर्द की शिकायत’ के बाद शुक्रवार की देर रात जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि इंद्राणी के मेडिकल टेस्ट के परिणाम सामान्य आने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. यहां से उन्हें वापस भायखला महिला जेल ले जाया गया.

जेजे अस्पताल के डीन एसडी नंदकर ने बताया कि 46 साल की इंद्राणी को शुक्रवार रात साढ़े 11 बजे सरकारी अस्पताल लाया गया था. उन्होंने सीने में दर्द और बेचैनी महसूस होने की शिकायत थी. उन्होंने बताया कि अस्पताल की सघन चिकित्सा इकाई (सीसीयू) में भर्ती कराए जाने के बाद इंद्राणी की कई मेडिकल जांच की गई. उनकी ईसीजी, सीने का एक्स-रे और गर्दन की एमआरआई कराई गई.

नंदकर ने बताया, ‘ईसीजी जांच में हृदय गति में आंशिक बदलाव है जबकि सीने की एक्स-रे रिपोर्ट सामान्य है. उनकी स्थिति गंभीर नहीं है. हृदय रोग से जुड़ी कुछ जांच के परिणाम अभी नहीं आए हैं.’

बता दें कि बीते 2 महीने में यह दूसरा मौका है जब इंद्राणी मुखर्जी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

इंद्राणी के खिलाफ उनकी बेटी शीना बोरा की हत्या मामले में मुकदमा चल रहा है. इंद्राणी को अगस्त 2015 में गिरफ्तार किया गया था और उसके कुछ महीने बाद उनके पति पीटर मुखर्जी को भी गिरफ्तार कर लिया गया था. यह दोनों शीना बोरा हत्याकांड में मुख्य आरोपी हैं.

शीना बोरा, इंद्राणी के पहले पति से पैदा हुई बेटी थी. पुलिस ने बताया कि अप्रैल 2012 में इंद्राणी, उसके पूर्व पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्यामवर राय ने पीटर के साथ साजिश रचकर शीना का कथित तौर पर अपहरण कर हत्या कर दी थी और उसके शव को महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के जंगल में फेंक दिया था.

अगस्त 2015 में एक अन्य मामले में राय की गिरफ्तारी के बाद यह मामला सामने आया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi