S M L

ट्रेन में चोरी हुआ सामान, रेलवे देगा 5 लाख रुपए का मुआवजा

उपभोक्ता अदालत ने सामान चोरी होने वाले दंपत्ति के पक्ष में फैसला सुनाया, साथ ही, रेलवे को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का आदेश भी दिया

FP Staff Updated On: Jun 09, 2018 04:18 PM IST

0
ट्रेन में चोरी हुआ सामान, रेलवे देगा 5 लाख रुपए का मुआवजा

ट्रेन में चोरी की घटना तो आम होती है लेकिन चोरी हुए सामान के वापिस मिलने की उम्मीद काफी कम, और ऐसे में उस सामान का मुआवजा मिलने की बात तो मानो नामुमकिन सी लगती है. लेकिन एक खबर आपको चौंका सकती है कि एक ऐसे ही मामले में देश की उपभोक्ता अदालत ने सामान चोरी होने वाले दंपत्ति के पक्ष में फैसला सुनाया है. साथ ही, रेलवे को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का आदेश भी दिया है.

टाइम्स आफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक, शिपिंग कारोबारी शैलेशभाई और मीनाबेन भगत जम्मू तवी एक्सप्रेस के 2-टियर एसी कोच में यात्रा कर रहे थे. मथुरा और नई दिल्ली के बीच उनके हैंडबैग चोरी हो गए थे, जिसमें उनका कीमती सामान भी था. पति-पत्नी ने पुलिस में शिकायत दर्ज की थी. लेकिन, इस शिकायत पर उन्हें कोर्इ प्रतिक्रिया नहीं मिली.

रेलवे के खिलाफ फोरम गए तो पक्ष में आया फैसला

इसके बाद दंपत्ति ने जामनगर के उपभोक्ता विवाद निवारण फोरम में उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक पर मामला दायर कर दिया. उन्होंने रेलवे से 5 लाख रुपए के मुआवजे की मांग की और रेलवे ने इस मांग का विरोध किया. उसने इस बात का हवाला दिया कि सामान बुक नहीं किया गया था. लगेज की सुरक्षा सुनिश्चित करना रेलवे की जिम्मेदारी नहीं है. लेकिन उपभोक्ता अदालत ने रेलवे के तर्कों को खारिज कर दिया.

फोरम ने कहा कि रेलवे के टीटी की जिम्मेदारी है कि वह इस बात को सुनिश्चित करे कि कोई भी व्यक्ति जिसके पास टिकट नहीं है, वह आरक्षित कोच में प्रवेश नहीं कर पाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
'हमारे देश की सबसे खूबसूरत चीज 'सेक्युलरिज़म' है लेकिन कुछ तो अजीब हो रहा है'- Taapsee Pannu

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi