विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

सहायक प्रथा का विरोध करने वाले सैनिक का होगा कोर्ट मार्शल

सैनिक की पत्नी ने आरोप लगाया था कि अफसर सैनिकों से नौकरों की तरह काम कराते हैं

FP Staff Updated On: Dec 06, 2017 06:20 PM IST

0
सहायक प्रथा का विरोध करने वाले सैनिक का होगा कोर्ट मार्शल

वीडियो के जरिए सेना के अफसरों पर सेवादारी का आरोप लगाने वाले लांस नायक यज्ञ प्रताप पर कार्रवाई हुई है. इंडियन आर्मी ने उनके कोर्ट मार्शल का आदेश दिया है. यज्ञ मध्य प्रदेश के रीवा जिले के रहने वाले थे. उनकी पत्नी ऋचा सिंह ने वीडियो सोशल साइट्स पर पोस्ट किया था.

वीडियो में सेना के जवान अफसर के घर पर कार की सफाई करते हुए दिख रहे थे. वहीं, कुछ जगह पर जवान बाकायदा वर्दी पहनकर कार के शीशे साफ करते दिख रहे थे.

सैनिक की पत्नी ने आरोप लगाया था कि अफसर सैनिकों से नौकरों की तरह काम कराते हैं. उन्हें बंगले पर कपड़े, जूते, बर्तन और टॉयलेट तक साफ करना पड़ता है. जब उसके पति यज्ञ प्रताप सिंह देहरादून में पदस्थ थे तब वह उनके साथ थी.

उस दौरान उनके पति के साथ ही अन्य सैनिकों को ऐसे कार्य करने पड़े थे. आरोप था कि सैनिकों को अफसरों की बीवी-बच्चों को शॉपिंग कराना, बच्चों को स्कूल छोड़ना, खाना बनाना और कुत्तों को नहलाने जैसे काम करने के लिए मजबूर किया जाता है.

फेसबुक के जरिए पीएम से लगाई थी गुहार

इससे आहत होकर पति-पत्नी ने जानकारी फेसबुक में वायरल कर प्रधानमंत्री से न्याय की गुहार लगाई थी. सैनिक और परिजन इस बात से आहत है कि वह सेना में मातृभूमि की सेवा के लिए जाते है, लेकिन उनसे घरेलू कार्य कराए जाते हैं.

इसके तुरंत बाद आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा था कि सोशल मीडिया पर शिकायत करने वाले जवान सजा के हकदार हो सकते हैं. सेना के दूसरे अफसरों ने कहा था कि उसकी मांग वाजिब हो सकती है, लेकिन उसने गलत प्लेटफॉर्म का चुनाव किया है.

इससे पहले बीएसएफ के जवान तेजप्रताप ने भी सोशल मीडिया के जरिए खराब खाने की शिकायत की थी. तेज प्रताप का वीडियो भी काफी वायरल हुआ था और इस पर काफी हंगामा हुआ था. इसके बाद तेज प्रताप को भी अप्रैल में नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था.

(साभारः न्यूज18 हिंदी)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi