S M L

भारत ने पाक उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब, 3 सैनिकों की मौत पर जताया कड़ा विरोध

भारत ने पाकिस्तानी अधिकारियों को नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाक सेना द्वारा बिना उकसावे के होने वाली संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं के गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी

Updated On: Oct 23, 2018 02:22 PM IST

Bhasha

0
भारत ने पाक उच्चायोग के अधिकारी को किया तलब, 3 सैनिकों की मौत पर जताया कड़ा विरोध
Loading...

भारत ने मंगलवार को पाकिस्तानी उच्चायोग के एक वरिष्ठ अधिकारी को तलब किया और दो दिन पहले जम्मू कश्मीर के सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिश के दौरान अपने तीन सैनिकों के मारे जाने की घटना को लेकर कड़ा विरोध जताया.

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि वह पाकिस्तान द्वारा उकसावे की ऐसी कार्रवाई की कड़े शब्दों में निंदा करता है. इससे आतंकवाद को मदद देने और बढ़ाने में पड़ोसी देश की मिलीभगत का पता चलता है. भारत के साथ रचनात्मक संबंधों का प्रचार करने और शांति की आकांक्षा के उसके कपटी दावों का खोखलापन उजागर होता है.

पाकिस्तानी उच्चायोग के अधिकारी को विदेश मंत्रालय में तलब किया गया और 21 अक्टूबर को सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तानी आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिश के दौरान तीन भारतीय जवानों के मारे जाने की घटना को लेकर उसके समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराया गया.

विदेश मंत्रालय ने कहा, यह सूचित किया जाता है कि मुठभेड़ के दौरान भारतीय सुरक्षाबलों ने दो पाकिस्तानी सशस्त्र घुसपैठियों को मार गिराया और पाकिस्तान सरकार को अपने नागरिकों के शव लेने चाहिए.

पाक अपनी सरजमीं से आतंकवादियों को रोकें

सुंदरबनी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर सेना द्वारा घुसपैठ की कोशिश नाकाम करने के बाद रविवार को हुई मुठभेड़ में दो हथियारबंद पाकिस्तानी घुसपैठिए मारे गए तथा तीन भारतीय जवान शहीद हो गए थे. सेना ने भी सोमवार को पाकिस्तान को चेतावनी दी कि वह अपनी सरजमीं पर आतंकवादियों को रोकें.

भारत ने भी मंगलवार को पाकिस्तानी अधिकारियों को नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी सेना द्वारा बिना उकसावे के होने वाली संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं के गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी.

विदेश मंत्रालय ने कहा, शांति बनाए रखने के लिए संयम बरतने और 2003 के संघर्ष विराम समझौते का पालन करने के निरंतर अनुरोधों के बावजूद पाकिस्तानी सेना ने 2018 में अभी तक नियंत्रण रेखा और अंततराष्ट्रीय सीमा पर बिना उकसावे के संघर्ष विराम उल्लंघनों की 1,591 घटनाओं को अंजाम दिया.

साथ ही पाकिस्तान से यह भी कहा गया कि वह किसी भी रूप में भारत के खिलाफ आतंकवाद के समर्थन के लिए अपनी सरजमीं का इस्तेमाल ना करने देने के वादे को निभाए.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi