S M L

अपने नागरिकों की सेहत पर साल में सिर्फ 1500 रुपए खर्च करता है भारत

भारत अपने हर नागरिक की सेहत पर एक साल में सिर्फ 1491 रुपए ही खर्च करता है

Updated On: Mar 31, 2017 10:28 PM IST

Bhasha

0
अपने नागरिकों की सेहत पर साल में सिर्फ 1500 रुपए खर्च करता है भारत

भारत अपने हर नागरिक की सेहत पर एक साल में सिर्फ 23 डॉलर (लगभग1500 रुपए) ही खर्च करता है. जबकि अमेरिका 4,541 डॉलर (लगभग तीन लाख रुपय) खर्च करता है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी है.

उन्होंने वैश्विक स्वास्थ्य व्यय डाटाबेस 2014 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए बताया कि भारत में प्रति व्यक्ति स्वास्थ्य पर 23 डॉलर (लगभग1500 रुपए) खर्च किया जाता है जबकि अमेरिका अपने एक नागरिक पर सालाना 4,541 डॉलर (लगभग तीन लाख रुपए) खर्च करता है.

पटेल ने बताया कि कनाडा में प्रति व्यक्ति सेहत पर 3,753 डॉलर(लगभग ढाई लाख रुपए) , फ्रांस में 3, 878 डॉलर(लगभग ढाई लाख रुपए) , जर्मनी में 4,165 डॉलर(लगभग 27000 रुपए), ब्रिटेन में 3,272 डॉलर(लगभग दो लाख रुपए), ऑस्ट्रेलिया में 4,043 डॉलर (लगभग ढाई लाख रुपए) और जापान में एक व्यक्ति पर 3,095 डॉलर (लगभग दो लाख रुपए) खर्च किए जाते हैं.

रक्षा बजट में भारत ने रूस को पीछे छोड़ा

हालांकि अपनी सेना पर खर्च करने वाले टॉप पांच देशों में भारत शामिल है. भारत का रक्षा बजट अब 50.7 अरब डॉलर का है. रक्षा पर खर्च करने के मामले में भारत ने सऊदी अरब और रूस को भी पीछे छोड़ दिया है.

अनुसंधान कंपनी आईएचएस मारकिट की ओर से जारी ‘2016 जेन्स डिफेंस बजट्स रिपोर्ट’ के अनुसार अमेरिका, चीन और ब्रिटेन रक्षा पर खर्च करने वाले विश्व के तीन टॉप देश बने हुए हैं. वहीं भारत का चौथा सबसे बड़ा रक्षा बजट है.

इसके बाद सऊदी अरब और रूस का नंबर है. रिपोर्ट में कहा गया कि अपने आधुनिकीकरण अभियान के परिणामस्वरूप 2018 तक भारत का ब्रिटेन को पीछे छोड़ना तय लग रह है, क्योंकि उसका रक्षा बजट विश्व का तीसरा सबसे बड़ा बजट हो जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi