S M L

बुलंदशहर: गोहत्या की अफवाह से भड़के गोरक्षक, फायरिंग में पुलिस अधिकारी की मौत

bulandshahr में उपद्रवियों के किए पथराव की घटना में 1 इंस्पेक्टर सहित कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं

Updated On: Dec 03, 2018 07:35 PM IST

FP Staff

0
बुलंदशहर: गोहत्या की अफवाह से भड़के गोरक्षक, फायरिंग में पुलिस अधिकारी की मौत

यूपी के बुलंदशहर में गोवध के शक में भीड़ ने जमकर हंगामा और बवाल काटा है. उपद्रवियों ने यहां के चिंगरावठी चौराहे पर पुलिस पर पथराव और फायरिंग की, जिससे थाना प्रभारी सुबोध सिंह सिंह की गोली लगने से मौत हो गई. इस दौरान गुस्साए लोगों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ और आगजनी की.

मिली जानकारी के मुताबिक, स्याना स्थित एक गांव के खेत में कथित रूप से मांस का टुकड़ा मिलने के बाद गुस्साए लोगों ने वहां जाम लगा दिया था. घटना की खबर मिलने पर पुलिस जब वहां जाम हटाने पहुंची तो भीड़ के साथ झड़प हो गई. हिंसा बढ़ने पर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए फायरिंग की, जिसमें 1 युवक गंभीर रूप से घायल हो गया. इसके बाद भीड़ बेकाबू हो गई और उसने चौकी पर हमला कर दिया.

इस दौरान भीड़ में मौजूद कुछ असमाजिकतत्वों ने पुलिस के वाहन को आग लगा दी और पुलिसकर्मियों पर फायरिंग कर दी. गोलीबारी में स्याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध कुमार सिंह की गोली लगने से मौत हो गई. जबकि पथराव की घटना में 1 इंस्पेक्टर सहित कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

UP Police Subodh Kumar Singh

सुबोध कुमार सिंह

हालात काबू में करने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल की तैनात की गई है. उपद्रव और हंगामे के बाद आईजी मेरठ जोन घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं. इस बीच पुलिस ने कहा है कि अभी गोहत्या के सबूत नहीं मिले हैं.

क्या है पूरा मामला?

बुलंदशहर में हुई हिंसा को लेकर ADG (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस पूरे मामले के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि लोगों की शिकायत थी कि उन्हें खेत में गाय का मांस मिला है. लेकिन गांव वालों ने वह मांस ट्रैक्टर में भरकर ले आए और मेन रोड जाम कर दिया. इसके बाद प्रदर्शन हिंसात्मक हो गया और लोग पुलिस पर पत्थर फेंकने लगे. इसके बाद पुलिस फोर्स को भी लाठी चार्ज करनी पड़ी.

कुमार ने बताया कि गांव वालों के साथ झड़प में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई. इसके बाद एक स्थानीय युवक सुमित को भी गोली लगी. सुमित को मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस अब इस बात की जांच कर रही है कि गोली किसने चलाई थी.

योगी आदित्यनाथ ने पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और स्थानीय युवक सुमित की मौत पर दुख जताया है. उन्होंने भरोसा जताया कि मामले की जांच कराई जाएगी और मारे गए लोगों को मुआवजा दिया जाएगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi