S M L

राजस्थान: 10वीं की परीक्षा में पीएम मोदी को लेकर ये क्या लिख दिया

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं की अर्धवार्षिक परीक्षा में 70 नंबर के अंग्रेजी के प्रश्नपत्र में स्पेलिंग (भाषा) समेत 32 गलतियां सामने आई हैं

FP Staff Updated On: Dec 12, 2017 11:00 AM IST

0
राजस्थान: 10वीं की परीक्षा में पीएम मोदी को लेकर ये क्या लिख दिया

आम तौर पर परीक्षा छात्रों के ज्ञान को जांचने के लिए लिया जाता है लेकिन जब प्रश्नपत्र में ही गलतियों की भरमार हो तो क्या कहेंगे. राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की दसवीं कक्षा की अंग्रेजी विषय की अर्धवार्षिक परीक्षा के प्रश्नपत्र में कई गलतियां मिलने की बात सामने आई हैं.

छात्रों को जो प्रश्नपत्र मिला उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवनकाल से जुड़ा अंग्रेजी में एक पैसेज था. अंग्रेजी के पैसेज में कई स्पेलिंग एरर थे. स्पीकर, क्राउड पुलर जैसे अंग्रेजी के साधारण शब्दों की स्पेलिंग भी गलत लिखी थी. पूरे पैसेज में कई गलतियां थीं.

पीएम मोदी के बारे में लिखा गया था कि बचपन में वो चाय बेचने में पिता की मदद किया करते थे. जब उन्होंने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली तो शपथ का ऐसा आयोजन पहली बार हुआ था. इस आयोजन में सार्क देशों के सभी नेता शामिल हुए थे.

पीएम मोदी के बारे में लिखा गया है कि 8 साल की उम्र में वो आरएसएस के प्रचारक बन गए, 17 साल की उम्र में उन्होंने घर छोड़ दिया. पीएम मोदी की खासियतों का जिक्र करते हुए लिखा गया है वो वेजिटेरियन, वर्कअल्कोहलिक, इंट्रोवर्ट हैं, जो गुजराती में कविताएं भी लिखते हैं.

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की इस लापरवाही का खामियाजा दसवीं क्लास के हजारों छात्रों को भुगतना पड़ा है. प्रश्नपत्र की गलती के कारण कई छात्र सवालों के जवाब नहीं लिख सके. छात्रों द्वारा इसकी शिकायत किए जाने पर टीचरों ने प्रश्नपत्र पढ़ा तो उन्हें उसमें कई खामियां मिलीं.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष बी एल चौधरी ने इस बारे में पूछने पर कहा कि 'हम अर्धवार्षिक परीक्षाओं को आयोजित नहीं करवाते हैं. इसे जिला शिक्षण संस्थाएं आयोजित करवाती हैं.'

जयपुर जिले के शिक्षा अधिकारी रतन सिंह यादव ने इस पर कहा कि 'प्रश्नपत्र में 32 गलतियां होने की सूचना मिली है. वो एक एक्सपर्ट कमेटी से इस मामले की जांच कराएंगे. सामान्यत: छपाई में कभी-कभार गलतियां होती हैं लेकिन इस मामले में यह बड़ी चूक है. परीक्षार्थियों को इस लापरवाही का खामियाजा नहीं भुगतना पड़ेगा. प्रश्नपत्र में सवाल अगर गलत होता है तो छात्रों को बोनस अंक मिलते हैं.'

परीक्षा में पूछे गए सवालों को लेकर अब इस पर राजनीति भी गरमा गई है. कांग्रेस ने प्रश्नपत्र में छात्रों से पूछे गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़े सवालों पर आरोप लगाया कि शिक्षा विभाग गुपचुप तरीके से बीजेपी का एजेंडा चला रहा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi