Co Sponsor
In association with
In association with
S M L

मध्य प्रदेश: छात्रों को ब्लू व्हेल गेम से सावधान करेंगे स्कूलों के प्रिंसिपल

राज्य शिक्षा केंद्र ने प्राइमरी और मिडिल स्कूलों के प्रिंसिपल को चिट्ठी लिखकर उन्हें छात्रों को इस बारे में समझाने की सलाह दी है

Bhasha Updated On: Sep 26, 2017 04:36 PM IST

0
मध्य प्रदेश: छात्रों को ब्लू व्हेल गेम से सावधान करेंगे स्कूलों के प्रिंसिपल

मध्य प्रदेश के स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को ब्लू व्हेल चैलेंज गेम से दूर रखने के लिए पहल की जा रही है. राज्य शिक्षा केंद्र ने प्राइमरी और मिडिल स्कूलों के प्रिंसिपल को चिट्ठी लिखकर उन्हें छात्रों को लगातार इस बारे में समझाने की सलाह दी है.

मंगलवार को दी गई जानकारी के मुताबिक पत्र में कहा गया है कि ब्लू व्हेल चैलेंज गेम अपराधी किस्म के लोगों द्वारा फैलाया हुआ एक जंजाल है. इसमें बच्चे उलझकर रह जाते हैं और उनके लिए इससे बाहर निकलना बहुत मुश्किल हो जाता है. कुछ मामलों में बच्चों और युवाओं ने इस खेल के जाल में फंसकर खुदकुशी करने का प्रयास भी किया है.

रेडिएशन का प्रभाव और बाल मन पर विपरीत प्रभाव को देखते हुए प्रदेश में प्राइमरी और मिडिल स्कूलों में मोबाइल के इस्तेमाल पर पहले से बैन है. शिक्षकों से कहा गया है कि वो छात्रों को इस जानलेवा खेल के प्रति सचेत करें. अगर बच्चों के मोबाइल में इस गेम के लिंक होने की जानकारी मिले, तो उसे फौरन हटवाने के लिए प्रभावी कार्रवाई करें.

SchoolChildren

इन स्कूलों के प्रिंसिपल से कहा गया है कि वो अभिभावकों के साथ बैठक (पैरेंट्स टीचर मीट) के दौरान भी बच्चों के परिजनों को इस बुराई के संबंध में आगाह करें. और उनसे अपने बच्चों पर लगातार निगरानी रखने की सलाह दें.

आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में देश के अलग-अलग हिस्सों में जानलेवा ब्लू व्हेल गेम के चक्कर में फंसकर कई बच्चे और युवा अपनी जान गंवा चुके हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
AUTO EXPO 2018: MARUTI SUZUKI की नई SWIFT का इंतजार हुआ खत्म

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi