S M L

तीन साल में दहेज के 1142 मामले झूठे साबित हुए

सरकार ने शुक्रवार को लोकसभा में बताया कि 2014 से 2016 तक तीन साल में दहेज कानून के तहत दर्ज कुल 1142 मामले झूठे साबित हुए

Updated On: Dec 14, 2018 04:59 PM IST

Bhasha

0
तीन साल में दहेज के 1142 मामले झूठे साबित हुए

सरकार ने शुक्रवार को लोकसभा में बताया कि 2014 से 2016 तक तीन साल में दहेज कानून के तहत दर्ज कुल 1142 मामले झूठे साबित हुए. महिला और बाल विकास राज्य मंत्री वीरेंद्र कुमार ने भैरों प्रसाद मिश्र के प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा कि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की रिपोर्ट के अनुसार, दहेज प्रतिषेध अधिनियम 1961 के तहत 2014 में सूचित कुल 447 मामले, 2015 में 361 मामले और 2016 में 334 मामले झूठे साबित हुए.

उन्होंने बताया कि इसी तरह दहेज प्रतिषेध अधिनियम 1961 के तहत 2014 में 298 मामले, 2015 में 293 मामले और 2016 में 148 मामले तथ्य या कानून की गलती के रूप में साबित हुए.

कुमार ने कहा कि यदि कानूनी प्रावधानों का कोई दुरुपयोग होता है तो उससे निपटने के लिए मौजूदा कानूनों में पर्याप्त सुरक्षा उपाय उपलब्ध हैं. मंत्रालय विभिन्न कानूनों के कार्यान्वयन की नियमित रूप से समीक्षा करता है और जरूरत पड़ने पर प्रभावी कार्यान्वयन के लिए आवश्यक संशोधन किये जाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi