S M L

छत्तीसगढ़ में चलाया जा रहा अनोखा मतदाता जागरूकता अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है'

बेहतर लोकतंत्र के निर्माण के लिए छत्तीसगढ़ के रायगढ़ की कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी शम्मी आबिदी और जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी चंदन त्रिपाठी ने एक पहल करते हुए शुरुआत की मतदाता जागरूकता अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है' की

Updated On: Sep 28, 2018 03:04 PM IST

FP Studio

0
छत्तीसगढ़ में चलाया जा रहा अनोखा मतदाता जागरूकता अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है'

भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य है जिसकी ताकत हैं 'हम भारत के लोग', जहां विश्व के कई देशों में सत्ता हासिल करने के लिए भीषण रक्तपात किया जाता है, वहीं भारत जैसे विविधतापूर्ण देश के संविधान ने देश के नागरिकों को अपना प्रतिनिधि स्वयं चुनने की आज़ादी दी है. अमीर-गरीब, ऊंच-नीच, और जात-पात के भेद से परे मतदान ने देश के हर नागरिक को देश का विधान लिखने की ताकत दी है. लेकिन इसी ताकत को कई नागरिक यूं ही ज़ाया होने देते हैं, वजह अनेकों हैं.

हमारे देश में चुनावों के दौरान मतदान देने योग्य नागरिकों, पंजीकृत मतदाताओं और मतदान करने वाले नागरिकों की संख्या में भारी अंतर देखा गया है. मतदान के प्रति नागरिकों के इस उदासीन रवैये का असर लोकतंत्र के मजबूत निर्माण पर पड़ता है.

बेहतर लोकतंत्र के निर्माण पर इसी अंतर के प्रतिकूल प्रभाव को समझते हुए देश के युवा राज्य छत्तीसगढ़ के एक जिले रायगढ़ की कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी शम्मी आबिदी और जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी चंदन त्रिपाठी ने एक अभिनव पहल करते हुए शुरुआत की मतदाता जागरूकता अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है' की.

Aawaz Jaroori Hai 3

आपका एक वोट सत्ता बदलने की ताकत रखता है, इसे रुकने ना दें, अपनी आवाज़ बुलंद करें क्योंकि लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए 'आवाज़ ज़रूरी है'. इस जनजागरूकता अभियान ने देश के हर राज्य के लिए मिसाल पेश की है.

मतदान करने के लिए किया जा रहा प्रोत्साहित

संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने लोकतंत्र को अपने शब्दों में परिभाषित किया था 'जनता की सरकार, जनता द्वारा, जनता के लिए' निश्चित ही लोकतंत्र का आधार यही है और इसी आधार को दृढ़ता प्रदान करने के लिए नागरिकों का मतदान के प्रति जागरूक होना बेहद ज़रूरी है. मतदाता जागरूकता के उद्देश्य को पूर्ण करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा स्वीप गतिविधियां संचालित की जा रही है.

Aawaz Jaroori Hai 1

रायगढ़ जिले में स्वीप गतिविधियों के अंतर्गत 11 अगस्त 2018, को शुरू किए गए मतदाता जागरूकता अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है' के प्रथम चरण में संचालक टीम ने जिले के सम्पूर्ण विकासखंडों और नगर पंचायतों में जाकर लोगों को मतदान की ताकत से अवगत कराया और सम्पूर्ण मतदान प्रक्रिया, ईवीएम और वीवीपीएटी मशीन की जानकारी दी ताकि लोगों में मतदान से जुड़ी सभी जानकारियों में पारदर्शिता आ सके. इसके साथ ही स्कूलों और कॉलेजों में कई प्रतियोगिताएं भी आयोजित की गई जिससे युवाओं को मतदान के लिए प्रोत्साहित किया जा सके.

अभियान 'आवाज़ ज़रूरी है' के बारे में रायगढ़ कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी शम्मी आबिदी कहती हैं कि 'एक बेहतर लोकतंत्र के निर्माण के लिए मतदान बेहद जरुरी है, और एक ज़िम्मेदार नागरिक होने के नाते हम सभी का कर्तव्य है कि हम मतदान की ताकत को पहचानें, मतदान करें और अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें. ‘आवाज़ ज़रूरी है’ अभियान देश के प्रति इसी कर्तव्य के भलीभांति निर्वहन का प्रयास है.'

Aawaz Jaroori Hai 4

मैं वोट जरूर दूंगी और लोकतंत्र की रक्षा का वचन

इसी अभियान के बीच कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी शम्मी आबिदी और जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी चंदन त्रिपाठी के नेतृत्व में 'आवाज़ ज़रूरी है' की टीम ने रक्षाबंधन के त्यौहार पर मतदाता जागरूकता की दिशा में एक नई तरह की कोशिश की.

रक्षाबंधन पर मेहंदी लगाने की पारंपरिकता को इस अभियान से जोड़ते हुए बहनों ने अपने हाथों में 'मैं वोट ज़रूर दूंगी' की मेहंदी रचाई और भाइयों की कलाई पर 'लोकतंत्र की रक्षा' का सूत्र बांधा और सभी ने यह शपथ ली कि वे मतदान ज़रूर करेंगे और देश में एक बेहतर लोकतंत्र स्थापित करने के लिए अपना योगदान देंगे. अभियान के दूसरे चरण में गांव-गांव घर-घर जाकर लोगों को मतदान और इसकी प्रक्रिया के विषय में जागरूक किया गया.

Aawaz Jaroori Hai 2

लगभग एक महीने तक चले इस अभियान के विषय में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, रायगढ़ चंदन त्रिपाठी कहती हैं, अभियान ‘आवाज़ ज़रूरी है’ एक प्रयास है लोगों को मतदान की ताकत से अवगत कराने का, जिससे लोकतंत्र की रक्षा के साथ ही लोकतंत्र को सुदृढ़ बनाया जा सके. देश सुनहरे भविष्य की दिशा में आगे बढ़ता रहे, इसके लिए वर्तमान में मतदान के कर्तव्य को पूरा करना हर नागरिक के लिए अनिवार्य शर्त है.'

रायगढ़ ज़िला प्रशासन द्वारा की गई यह कोशिश निश्चित ही काबिले-तारीफ़ है जिसका केवल एक ही उद्देश्य है 'लोकतंत्र को मजबूत बनाना' और 'साथी हाथ बढ़ाना' की तर्ज़ पर पूरे देशवासियों से यही अपील है कि अपने वोट की ताकत को पहचानें, मतदान करें, यह स्व-हित से परे देश के हित में आपका महत्वपूर्ण योगदान होगा.

(This is a partnered post.)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi