S M L

औरंगाबाद में हिंसा के बाद अब शांति, पुलिस ने किए 3 मामले दर्ज

एहतियात के तौर पर यहां सुरक्षाबलों और पुलिस की भारी तैनाती की गई है. इंटरनेट पर लगा पाबंदी अभी भी जारी है

FP Staff Updated On: May 13, 2018 12:03 PM IST

0
औरंगाबाद में हिंसा के बाद अब शांति, पुलिस ने किए 3 मामले दर्ज

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में शुक्रवार रात भड़की हिंसा के बाद अब हालात काबू में है. हालांकि एहतियात के तौर पर पूरे इलाके में पुलिसबलों की तैनाती की गई है. यहां शनिवार से धारा 144 शनिवार लागू है ताकि बाकी इलाकों में हिंसा न फैले.

पुलिस ने शनिवार को कहा कि स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है और चौकसी बढ़ा दी गई है. अब तक 3 मामले दर्ज किए गए हैं और कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है.

औरंगाबाद के स्पेशल आईजी मिलिंद भारांबे ने कहा, स्थिति नियंत्रण में करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए गए हैं जो फिलहाल सामान्य है. भारांबे ने एएनआई से कहा, स्टेट रिजर्व पुलिस फोर्स (एसआरपीएफ) की 7 कंपनियां और दंगा नियंत्रण पुलिस की एक कंपनी वहां तैनात की गई है.

शुक्रवार रात दो समुदायों के बीच झड़प में दो लोगों की मौत हो गई और 12 पुलिसकर्मी सहित 50 लोग घायल हो गए. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शनिवार को बताया कि हालात नियंत्रण में हैं.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिला प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है और इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई. हिंसा की घटना में दो लोग मारे गए. पुलिस की कथित गोलीबारी में 17 साल के लड़के की मौत हो गई. दंगाइयों ने पास की एक दुकान में आग लगा दी जिससे 65 साल के एक व्यक्ति अपने घर में फंस गया और उसकी मौत हो गई. घायलों में सात महिलाएं और एक सहायक पुलिस आयुक्त सहित 12 पुलिसकर्मी भी हैं.

दंगाइयों ने 100 दुकानें और 80 गाड़ियों को जला दिया. शनिवार रात से दंगा और आगजनी के आरोप में 37 लोगों को गिरफ्तार किया गया.

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक पानी के अवैध कनेक्शन के खिलाफ नगर निगम के अभियान के कारण पिछले कुछ दिनों से मोती करंजा इलाके में तनाव व्याप्त है. सूत्रों ने बताया कि इलाके में एक धार्मिक स्थल से पानी का अवैध कनेक्शन काटने के बाद इसने सांप्रदायिक रंग ले लिया.

(इनपुट भाषा से)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi