S M L

राजस्व देने के मामले में सबसे आगे IIT मुंबई: एचआरडी मंत्रालय

अनुसंधान, आविष्कार, परामर्श और पेटेंट्स के जरिए पिछले तीन साल में राजस्व अर्जित करने वाले शीर्ष प्रौद्योगिकी संस्थानों में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई सबसे ऊपर है.

Updated On: Jul 22, 2018 03:50 PM IST

Bhasha

0
राजस्व देने के मामले में सबसे आगे IIT मुंबई: एचआरडी मंत्रालय

अनुसंधान, आविष्कार, परामर्श और पेटेंट्स के जरिए पिछले तीन साल में राजस्व अर्जित करने वाले शीर्ष प्रौद्योगिकी संस्थानों में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई सबसे ऊपर है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के आंकड़ों में यह बात सामने आई है.

इन स्रोतों से राजस्व अर्जित करने के मामले में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बम्बई के बाद आईआईटी मद्रास और फिर आईआईटी दिल्ली का स्थान है. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के आंकड़ों में कहा गया है कि आईआईटी मुंबई ने इन स्रोतों से वित्त वर्ष 2017-18 में 17 करोड़ 99 लाख रुपए जुटाए हैं जबकि 16-17 और 15-16 में यह आंकड़ा क्रमश: 17.11 करोड़ और 10.65 करोड़ रुपए था.

उपरोक्त तीनों वित्त वर्ष में आईआईटी मद्रास ने क्रमश: 11.67 करोड़, 10.87 करोड़ और 7.15 करोड़ रुपए इन स्रोतों से अर्जित किए हैं जबकि आईआईटी दिल्ली ने 10.61 करोड़, 8.84 करोड़ और 7.03 करोड़ रुपए का राजस्व हासिल किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi