S M L

नकवी ने पूछा- मैंने मदरसे में पढ़ाई की है क्या मैं आतंकवादी हूं?

सेंट्रल वक्फ बोर्ड की दलील पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी भड़क गए हैं

FP Staff Updated On: Jan 11, 2018 07:40 PM IST

0
नकवी ने पूछा- मैंने मदरसे में पढ़ाई की है क्या मैं आतंकवादी हूं?

दो दिन पहले उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मदरसों को खत्म करने की पैरवी की थी. वसीम रिजवी की दलील थी कि मदरसे की शिक्षा बच्चे को कट्टरपंथ की तरफ बढ़ा रहे हैं. लेकिन अब सेंट्रल वक्फ बोर्ड की दलील पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी भड़क गए हैं. उन्होंने कहा कि जो लोग भी मदरसे की शिक्षा पर सवाल उठा रहे हैं वो पागल हैं.

न्यूज़ 18 इंडिया से बातचीत करते हुए नकवी ने कहा, 'कई पागल लोग हैं जो मदरसे की क्षिक्षा पर बेकार के सवाल उठा रहे हैं, मैं मीडिया से भी खुश नहीं हूं वो क्यों ऐसे सवाल पूछते हैं और मुद्दा बना रहे हैं. ना तो सरकार और ना ही बीजेपी मदरसे पर कोई सवाल उठा रही है.' जब नक़वी से सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी के ख़त पर सवाल पूछा गया तो वो और भी भड़क गए. उन्होंने कहा ''मैंने मदरसे में पढ़ाई की है क्या मैं आतंकवादी हूं? जिस तरह से लोग मदरसे पर सवाल उठा रहे हैं मैं इससे काफी आहत हूं''

मुख्तार अब्बास नक़वी ने आगे ये भी कहा कि मदरसे पर बहस नहीं होनी चाहिए. बहस इस बात पर होनी चाहिए कि आखिर क्यों वहां काम कर रहे शिक्षकों को वक्त पर तनख्वाह नहीं जाती है.

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने मदरसों को खत्म करने की पैरवी की है.इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर मांग की है कि वक्त आ गया है कि मदरसा शिक्षा को मुख्यधारा से जोड़ा जाए. रिजवी ने पत्र में लिखा है कि कुछ संगठन और कट्टरपंथी मुस्लिम बच्चों को सिर्फ मदरसे की शिक्षा देकर उन्हें सामान्य शिक्षा की मुख्यधारा से दूर कर रहे हैं. मदरसों में जो बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं, उनकी शिक्षा का स्तर निचली सतह का है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi