S M L

हैदराबादः अलौकिक ताकत हासिल करने के लिए मार दिया बच्ची को

राजशेखर ने अपनी पत्नी श्रीलता के साथ चिलुकानगर में रहने वाले कमरे के कमरे मे 'शूद्र पूजा' किया. इसके बाद पूजा की वेदी पर कटे सिर को रख दिया

FP Staff Updated On: Feb 15, 2018 11:02 PM IST

0
हैदराबादः अलौकिक ताकत हासिल करने के लिए मार दिया बच्ची को

हैदराबाद को सॉफ्टवेयर राजधानी के नाम से भी जाना जाता है. देश के विकसित शहरों में एक. लेकिन आप यह जानकार चौंक जाएंगे कि वहां भी अंधविश्वास पल रहा है.

बीते 31 जनवरी को चंद्र ग्रहण के समय एक बच्ची की बलि चढ़ा दी गई. बलि चढ़ानेवाला अलौकिक ताकत हासिल करना चाहता था. मामला चिलुका नगर का है. यहां के एक घर की छत पर मिले एक बच्‍चे के सिर से सनसनी फैल गई. पुलिस इसे तांत्रिक क्रिया का मामला मान कर चल रही है.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक पुलिस से प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक चिलुका में किराए पर रहने वाली एक महिला एक फरवरी, शुक्रवार को घर की छत पर कपड़े सुखाने गई. वहां पर एक बच्ची का कटा सिर देखकर उसके होश उड़ गए और वह जोर-जोर से चिल्लाने लगी. शोर सुनकर आसपास के लोग भी वहां इकट्ठा हो गए.

टैक्सी चालक और उसकी पत्नी ने दिया घटना को अंजाम 

पुलिस के मुताबिक इस घटना को अंजाम दिया है टैक्सी चालक करुकोंडा राजशेखर और उसकी पत्नी श्रीलता ने. सूचना पाकर मौके पर पहुंची ने सिर को अपने कब्‍जे में ले लिया. धड़ का अभी तक पता नहीं चल है.

पुलिस ने बताया कि राजशेखर ने भोइगुडा में फुटपाथ पर बच्ची अपने भिखारी माता-पिता के पास सो रही थी, उसी वक्त अपहरण कर लिया था. उसके बाद उसने बच्चे को लेते हुए मूसा नदी ले गया. धड़ को वहां गाड़ने के बाद कटे हुए सिर को घर ले गया. बच्चा 2 या 3 महीने का लग रहा है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि 3 बजे के बाद, राजशेखर ने अपनी पत्नी श्रीलता के साथ चिलुकानगर में रहने वाले कमरे के कमरे मे 'शूद्र पूजा' किया. इसके बाद पूजा की वेदी पर कटे सिर को रख दिया.

हत्यारों को पुलिस ने लिया हिरासत में 

अनुष्ठान के बाद, राजशेखर ने कटे हुए सिर को छत पर ले गया और चंद्र ग्रहण चांदनी के नीचे दक्षिण-पश्चिम के कोने में रखा. किसी भी तरह के संदेह से बचने के लिए उसने सुबह में अपनी टैक्सी में सामान्य रूप से माधापुर के लिए रवाना हो गए.

पुलिस ने इस मामले में श्रीलता और राजशेखर को हिरासत में ले लिया है. राजशेखर ऑटो चलाता है. राजशेखर के साथ पड़ोस में रहने वाले नरहरी और उसके बेटे रंजीत को भी हिरासत में लिया है. जानकारी मिली है कि ये तीनों तांत्रिक गतिविधियों में लिप्त रहते थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi