S M L

दिल्ली के हयात होटल में बंदूक निकालने वाले बीएसपी सांसद के बेटे से पार्टी ने पल्ला झाड़ा

आरोपी के पास बंदूक का लाइसेंस है या नहीं यह उसकी गिरफ्तारी के बाद ही पता चलेगा

Updated On: Oct 16, 2018 10:47 PM IST

FP Staff

0
दिल्ली के हयात होटल में बंदूक निकालने वाले बीएसपी सांसद के बेटे से पार्टी ने पल्ला झाड़ा

बहुजन समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद के बेटे पर मंगलवार को दिल्ली में हयात रीजेंसी होटल के बाहर मेहमानों पर बंदूक तानने और उन्हें धमकी देने के लिए केस दर्ज कर लिया गया. उधर पार्टी ने इस घटना से खुद को दूर कर लिया है. वरिष्ठ बीएसपी नेता सुधींद्र भदोरिया ने कहा कि आरोपी, आशीष पांडे, न तो पार्टी का नेता हैं और न ही बीएसपी का सदस्य है. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं तेज हो गईं.

भदोरिया ने कहा- 'वह चाहे जो भी है. उचित जांच होनी चाहिए और कार्रवाई की जानी चाहिए. इस घटना का बीएसपी के साथ कोई संबंध नहीं है. वह न तो नेता है और न ही बीएसपी का सदस्य है.'

घटना रविवार तड़के दिल्ली के आरके पुरम स्थित हयात होटल में हुई थी. दिल्ली पुलिस ने लखनऊ के रहने वाले आशीष पांडे के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया था. आरोपी आशीष पांडे का भाई रितेश पांडे उत्तर प्रदेश विधानसभा में विधायक है. दिल्ली पुलिस ने कहा कि आर्म्स एक्ट और विभिन्न आईपीसी तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

विवाद क्यों हुआ:

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबक होटल के सुरक्षा कर्मचारियों ने पुलिस को बताया कि आरोपी और पीड़ित होटल के नाइट क्लब में पार्टी कर रहे थे. दोनों ही पक्षों के बीच वाशरूम का इस्तेमाल करने के लिए बहस शुरु हुई. घटना के वक्त पीड़ित और आरोपी पक्ष दोनों ही शराब के नशे में थे. आरोपी के साथ आई एक महिला ने पीड़ितों से दुर्व्यवहार किया और उन्हें 'ट्रांसजेंडर' कहा. इसी पर बात बढ़ गई और यहां तक आ पहुंची.

पुलिस के अनुसार आरोपी के बंदूक की डिटेल निकाल ली गई है और उसके लाइसेंस को रद्द करने की प्रक्रिया शुरु कर दी गई है. हालांकि आरोपी अभी तक पुलिस के चंगुल से फरार है. शुरु में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के खंड बाद में घटना की शिकायत दर्ज होने के बाद जोड़े गए. हालांकि घटना की शिकायत भी तब दर्ज कराई गई जब वायरल वीडियो के आधार पर पुलिस ने होटल से संपर्क किया. होटल के सहायक सुरक्षा प्रबंधक ने सोमवार को शिकायत दर्ज कराई.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (नई दिल्ली) अजय चौधरी ने कहा कि यह घटना 14 अक्टूबर को 3.40 बजे तड़के हुई थी. 'उस दिन न तो पीड़ित और न ही होटल के कर्मचारियों द्वारा कोई शिकायत दर्ज कराई गई.' उन्होंने कहा कि तीनों पक्षों - पीड़ित, होटल अधिकारियों और आरोपी की तरफ से लापरवाही बरती गई है.

होटल प्रबंधन की इस लापरवाही को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है और पूछा है कि उनकी लापरवाही को देखते हुए क्यों न उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाए.

हयात रीजेंसी ने जांच में सहयोग का आश्वासन दिया:

होटल के अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि वे पुलिस के साथ पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं और घटना को गंभीरता से ले रहे हैं. होटल ने आज जारी एक बयान में कहा, 'दिल्ली के हयात रीजेंसी में हुई इस घटना को हम पूरी गंभीरता से ले रहै हैं और स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ काम कर रहे हैं.'

पीड़ित ने क्या कहा:

एक टीवी चैनल द्वारा संपर्क करने पर एक पीड़ित ने कहा कि 'आरोपी बंदूक लेकर उनकी तरफ आया और उन्हें गालियां देने लगा. होटल के लोग वहां थे और उन्होंने बीच बचाव करने की कोशिश की. लेकिन वो भी ज्यादा कुछ कर नहीं पाए क्योंकि वो भी डरे हुए थे.'

राजनीति तेज:

आम आदमी पार्टी ने इस घटना पर केंद्र को घेर लिया और कहा कि दिल्ली पुलिस को नियंत्रित करने वाली केंद्र सरकार शहर में कानून व्यवस्था को बनाए रखने में पूरी तरह विफल रही है.

brawl

बीजेपी दिल्ली इकाई के प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि घटना में उचित जांच की जानी चाहिए. सीसीटीवी फुटेज के रूप में घटना के सबूत मौजूद हैं. गृह राज्य मंत्री किरेन रिजजू ने कहा कि पुलिस ने मामले में कार्रवाई शुरू कर दी है. उन्होंने ट्वीट किया कि- 'दिल्ली पुलिस ने इस घटना पर कार्रवाई शुरू कर दी है. आर्म्स एक्ट और आईपीसी के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. मजबूत और उचित कार्रवाई की जाएगी. इसके साथ ही दूसरे लोगों की पहचान की जा रही है.'

वहीं कांग्रेस नेता और सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने घटना के बाद शहर में कानून और व्यवस्था की स्थिति पर भी गंभीर चिंता व्यक्त की है. उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट में लिखा कि, 'मैं अपने बच्चों और हमारे शहर के लोगों की सुरक्षा के लिए बहुत डरा हुआ हूं.'

उधर पीड़ित के पिता कांग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक कंवर करन सिंह ने कहा है कि बीएसपी सांसद द्वारा बंदूक दिखाए जाने की वजह से उनका बेटा बहुत डर गया था इसलिए पुलिस के पास शिकायत लेकर नहीं गया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi