S M L

गोलवलकर के राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाएगी एचआरडी मिनिस्ट्री की संस्था

एचआरडी मिनिस्ट्री का कहना है कि राष्ट्रवाद पर गोलवलकर के विचारों को गलत समझा गया है

Updated On: Jul 09, 2017 02:34 PM IST

Bhasha

0
गोलवलकर के राष्ट्रवाद का पाठ पढ़ाएगी एचआरडी मिनिस्ट्री की संस्था

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक एमएस गोलवरकर के विचारों में राष्ट्र और राष्ट्रवाद के सिद्धांत विषय पर अगले महीने एक गोष्ठी आयोजित की जा सकती है.

दर्शनशास्त्र के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देने और उसमें सहायता करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से गठित इंडियन काउंसिल फॉर फिलॉसफिकल रिसर्च (आईसीपीआर) का मानना है कि राष्ट्रवाद पर गोलवरकर के विचारों को गलत समझा गया है और विरोधियों ने उसे गलत परिप्रेक्ष्य में पेश किया है. उसे सही परिप्रेक्ष्य में समझे जाने की जरूरत है.

काउंसिल के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पुस्तक ‘ज्योतिपुंज’ में आरएसएस के दूसरे प्रमुख गोलवलकर को ‘पूजनीय गुरूजी‘ कह कर संबोधित किया है. इस पुस्तक में मोदी ने ऐसे 16 लोगों के जीवन का कहानियां बताई हैं, जिन्होंने उन्हें प्रभावित किया है.

परिषद ने विद्वानों से 27 जुलाई तक प्रविष्टि मांगी है, उसी आधार पर गोष्ठी की तारीख तय की जाएगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi