S M L

करीबियों का दावा: आज सरेंडर कर सकती है हनीप्रीत

कुछ दिनों पहले हनीप्रीत ने दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दी थी. हालांकि, दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत की याचिका खारिज करते हुए कहा था कि वह उसे पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका देनी चाहिए

FP Staff Updated On: Oct 03, 2017 10:09 AM IST

0
करीबियों का दावा: आज सरेंडर कर सकती है हनीप्रीत

गुरमीत राम रहीम की कथित बेटी हनीप्रीत के करीबियों ने दावा किया है कि वह पंचकूला पुलिस के सामने सरेंडर करेगी. बता दें कि वह एक महीने से ज्यादा समय से फरार चल रही है.

बता दें कि कुछ दिनों पहले हनीप्रीत ने दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दी थी. हालांकि, दिल्ली हाईकोर्ट ने हनीप्रीत की याचिका खारिज करते हुए कहा था कि वह उसे पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका देनी चाहिए.

25 अगस्त से लापता है हनीप्रीत

हनीप्रीत आखिरी बार 25 अगस्त को रोहतक में दिखी थी. 25 अगस्त को गुरमीत राम रहीम को पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने दोषी करार दिया था और उसे रोहतक की सुनारिया जेल भेज दिया था. पंचकूला से हनीप्रीत भी उसके साथ हेलिकॉप्टर में रोहतक गई थी. उसके बाद हनीप्रीत को एक गाड़ी में रोहतक से निकलते हुए देखा था. उसके बाद वह कहां थी इसका कोई पता नहीं चल पाया था.

हनीप्रीत के पूर्व पति ने लगाए थे ये आरोप

गुरमीत राम रहीम और उसकी मुंहबोली बेटी के रिश्तों पर हनीप्रीत के पूर्व पति ने कई राज खोले थे. हनीप्रीत के पूर्व पति विश्वास गुप्ता ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया की हनीप्रीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी नहीं थी. विश्वास गुप्ता ने बताया कि बाबा और मेरा कमरा साथ-साथ था. एक दिन मैं पानी पीने के लिए बाहर आया. मुझे कुछ आवाजें सुनाई दी. मैंने जब बाबा के कमरे की तरफ कुछ सुनने की कोशिश की तो वो दरवाजा खुल गया. मैनें देखा की राम रहीम और हनीप्रीत आपत्तिजनक हालत में थे.

हनीप्रीत के मामा ने की थी सरेंडर करने की अपील

हनीप्रीत के मामा अशोक बब्बर का कहना है कि हनीप्रीत को सरेंडर कर जांच में सहयोग देना चाहिए. उन्होंने कहा कि हनीप्रीत से उनके परिवार की पिछले 18 सालों से कोई मुलाकात नहीं हुई है. बाबा राम रहीम और हनीप्रीत के अवैध रिश्ते मीडिया की उपज ही हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi