S M L

होली 2018: जानें क्यों खास है इस साल होलिका दहन

इस बार शाम को 7: 39 पर भद्रा समाप्त हो जाएगी इसके बाद से होलिका दहन किया जाना शुभ रहेगा.

Updated On: Mar 01, 2018 01:12 PM IST

FP Staff

0
होली 2018: जानें क्यों खास है इस साल होलिका दहन

इस साल होलिका दहन का शुभ संयोग बन रहा है. कहते हैं होलिका दहन के दिन तीन चीजों का होना काफी शुभ माना जाता है. ये तीन चीजें हैं प्रदोण काल का होना, पुर्णिमा तिथि का होना और भद्रा ना लगा होना. इस साल ये तीनों संयोग बन रहे है. जिससे इस साल होलिका दहन बहुत शुभ मानी जा रही है.

हालांकि फिर भी कुछ चिजे हैं जिनका आपको खास देना चाहिए. ऐसा नियम है कि भद्रा काल में होलिका पूजन और होलिका दहन नहीं करनी चाहिए. इससे अशुभ फल प्राप्त होता है. इस बार शाम को 7: 39 पर भद्रा समाप्त हो जाएगी इसके बाद से होलिका दहन किया जाना शुभ रहेगा.

holika

होलिका दहन पूजा विधि

होलिका पूजन सुर्यास्त के बाद करना चाहिए. होलिका दहन के स्थान पर जाकर इस मंत्र क जाप करें-

अहकूटा भयत्रस्तै: कृता त्वं होलि बालिशै: अतस्वां पूजयिष्यामि भूति-भति प्रदायिनीम

इस मंत्र के पाठ करन के बाद अपना, अपने पिता और गोत्र का नाम लेकर संकल्प करना चाहिए. फिर भगवान गणेश का ध्यान कर जल और फूल अर्पित करना चाहिए. इसके बाद होलिका में हल्दी, फूल, नए अनाज की बाली और श्रीफल चढ़ाएं. अंत में सूत से होलिका लपेटें और जल चढ़ाएं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi